छत्तीसगढ़

मित्रता न गरीब देखता है न अमीर  मित्रता में केवल प्रेम होता है - भागवताचार्य चुलेश्वर तिवारी

मित्रता न गरीब देखता है न अमीर मित्रता में केवल प्रेम होता है - भागवताचार्य चुलेश्वर तिवारी

जांजगीर चाम्पा - जिले के डभरा क्षेत्र अंतर्गत साराडीह चित्रोत्पला गंगा (महानदी ) तट पर इन दिनों श्रीमद् भागवत महापुराण ज्ञान महायज्ञ का आयोजन हो रहा है जिसमें क्षेत्र भर के श्रद्धालु श्रीमद् भागवत महापुराण का भागवताचार्य चुलेश्वर तिवारी के श्री मुख से श्रद्धालु श्रवण कर रहे हैं. आज कथा प्रवचन के अंतिम दिन में सुदामा चरित्र प्रसंग में भागवताचार्य चुलेश्वर तिवारी ने बताया कि मित्रता न गरीब देखता है न अमीर मित्रता में केवल प्रेम होता है उन्होंने बताया कि भगवान श्रीकृष्ण और सुदामा के मित्रता में केवल और केवल प्रेम था न अमीरी गरीबी उनकी मित्रता की प्रेरणा आज के दौर में लेनी चाहिए मुसीबत में फंसे मित्र को मुसीबत से निकलना ही सच्चे मित्र की पहचान है मित्रता में कभी लाभ नही देखा जाता मित्रता में केवल प्रेम ही प्रेम होता।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर दिया जोर

व्यासपीठ से भागवताचार्य तिवारी ने बेटियों के लिए सभी भागवत प्रेमियों से अपील की आज के दौर में बेटियों को आगे करना चाहिए बेटे और बेटियों के बीच मे भेद भाव नही करने की अपील करते हुए कहा कि बेटे एक कुल का उद्धार करता है लेकिन बेटियां दो कुलो का उद्धार करती है इसीलिए बेटियों को बेटे की तरह ही परवरिश करे बेटियों का भ्रुण हत्या न करे और उन्हें खूब पढ़ाये क्योंकि आज हमारी देश की बेटियां बेटो से कम नही है।

इस आयोजन में यज्ञाचार्य के रूप में दीपक प्रसाद तिवारी पूजन की विधि को सम्पन्न करा रहे है तो वही गायन संगीत क्षेत्र के सुप्रसिद्ध गायक बुद्धेश नेताम और उनकी टीम के भक्तिमय प्रस्तुति से सबका मन मुग्ध कर भागवत मय हो कर झूम रहे है और पूरे क्षेत्र के लोग भक्ति रस में डूबे हुए है।

संबंधित तस्वीर

Leave a comment