छत्तीसगढ़

बाइक और ट्रेलर वाहन में भिड़ंत...... एक युवक की मौत

बाइक और ट्रेलर वाहन में भिड़ंत...... एक युवक की मौत

गिधौरी /टुण्डरा । गिधौरी से सारंगढ़ मार्ग पर ग्राम पंचायत घटमडवा और कुम्हारी के बीच सिध्द बाबा के पास मुख्य मार्ग पर बीते बुधवार रात करीबन 11 बजे के आसपास खडी ट्रेलर 18 चक्का मे बाईक चालक जबरदस्त तेज रफ्तार से पीछे में जा घुसा और जबरदस्त टक्कर हो गए जिससे बाईक चालक युवक की घटना स्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गया तथा बाईक मे सवार दो और लोग बाल बाल बच गये । प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पकरीया जिला जांजगीर चाम्पा निवासी वर्तमान मे बलौदाबाजार जिला अंतर्गत कसडोल विकासखण्ड के गिधौरी थाना के अंतर्गत ग्राम पंचायत पुलेनी मे निवासरत सुनील वर्मा उर्फ संजू पिता सुखसागर कश्यप 21 वर्ष ने अपने नाना घर मे रह रहे थे। और बुधवार शाम को चार बजे के आसपास सुनील वर्मा पुलेनी से अपने दोस्त बुधराम गोंड उम्र 18 वर्ष ग्राम घटमडवा निवासी ,पुर्वेश चौहान उम्र 22 वर्ष ग्राम पंचायत खपरीडीह निवासी तीनो रॉयल इनफील्ड बुलेट बाईक मे सवार होकर किसी काम से टुण्डरी गया हुआ था और रात मे वापस पुलेनी जाने के लिए निकले हुये हुये थे की घटमडवा और कुम्हारी के बीच सीत बाबा मंदिर के पास खडी ट्रेलर क्र.सीजी 13 ए एफ 2959 मे तेज रफ्तार मे चला रहे सोल्ड रायल इनफील्ड बुलेट जा घुसा और दोनों में जबरदस्त टक्कर हो जाने से बाईक चालक सुनील वर्मा की घटना स्थल.पर ही दर्दनाक मौत हो गई। बाईक मे सवार और दो लोग बाल बाल बच गया । घटना के बाद ट्रेलर चालक.फरार हो गया । घटना की जानकारी गिधौरी पुलिस को दी गई । घटना के बाद शव को रात में ही पोस्टमार्टम के लिए कसडोल भेज दिया गया था और सुबह गुरुवार मृतक सुनील वर्मा का शव को पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौप दिया। इधर पुलिस मामले की जांच मे जुटी हुई है। बताया जा रहा है बुलेट बाईक मे सवार तीनो लोगों ने घटना के पहले बुलेट बाईक मे सेल्फी लिए थे वे तस्वीर जहां चालक की ट्रेलर मे पीछे जा घुस जाने जबरदस्त टक्कर से.मौत.हो गई। और साथी दो लोग बाल बाल बच गये ।घटना के पहले का तस्वीर भी मोबाईल में कैद है । मृतक युवक का अंतिम संस्कार गृह ग्राम पकरीया जिला जांजगीर चाम्पा मे किया गया आज वैश्विक महामारी कोविड 19 कोरोना सभी जगह बढते क्रम में है पूरे प्रदेश के लगभग सभी जिलों में लॉकडाउन लगा हुआ अगर गांव में रहकर लाकडाउन का सही तरीके से पालन करते और घर पर रहते तो शायद युवक की जान बच सकते थे। शासन के द्वारा दिशा निर्देश के बाद भी घर से निकलकर लाकडाउन उल्लंघन किया जा रहा है जो लोगो के के मन में आखिर विचार चलता जो शासन प्रशासन के नियमों का पालन नही करते है अगर नियमो का सही पालन करते तो जो स्वयं की जान की नुकसान हुआ वो शायद नही होता।

Leave a comment