छत्तीसगढ़

मौखिक आदेश पर सहायक परियोजना अधिकारी की नियुक्ति शिक्षा विभाग पर लगे सवालिया निशान

मौखिक आदेश पर सहायक परियोजना अधिकारी की नियुक्ति शिक्षा विभाग पर लगे सवालिया निशान

बिलासपुर ।राजेश मिश्रा। छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग का एक आदेश आजकल सुर्खियों में बना हुआ है यह आदेश स्कूल शिक्षा विभाग के अवर सचिव जनक कुमार द्वारा दिनांक 21 एक 2021 को पारित किया गया अवर सचिव जनक कुमार ने प्रमुख सचिव छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग के मौखिक निर्देशों का हवाला देते हुए अलका शुक्ला प्राचार्य शासकीय आईटीआई बिलासपुर को राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान का परियोजना अधिकारी समन्वयक बिलासपुर का प्रभार दे दिया गया जिससे सवाल खड़े हो गए हैं आखिर मौखिक आदेश के आधार पर नियुक्त कर्मचारियों अधिकारियों की नियुक्ति कब से होने लगी इससे साफ जाहिर होता है कि प्रदेश में अफसरशाही निरंकुश हो गई है और सरकार का नियंत्रण अफसरों के ऊपर से समाप्त हो गया है इस मामले की शिकायत शिक्षा मंत्री प्रेम प्रेमसाय सिंह टेकाम एवं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी की गई है किंतु सरकार के जिम्मेदार माननीय द्वारा क्या कार्यवाही की जाएगी यह देखने का विषय होगा। इस नियुक्ति से एक बात यह भी स्पष्ट होती है कि अधिकारियों में पहुंच और पैसों का रुतबा रखने वालों के काम को कोई नहीं रोक सकता पैसे के आगे नियम कानून कोई मायने नहीं रखते इसीलिए नियमों को धता बताते हुए सिर्फ मौखिक आदेश पर एक अधिकारी को प्राचार्य से सहायक परियोजना अधिकारी बना दिया गया BBN24news.com इस पत्र की पुष्टि नहीं करता हैं किंतु यह पत्र जारी हुआ है और लगतार वायरल हो रहा है यह पत्र वाकई संबंधित अधिकारी द्वारा जारी किया गया है या फर्जी रूप से जारी कर अपना उल्लू सीधा करने का प्रयास किसी के द्वारा किया जा रहा है यह जांच का विषय है

Leave a comment