छत्तीसगढ़

	जिला अध्यक्ष व जिला प्रवक्ता के अहमियत को कम किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण

जिला अध्यक्ष व जिला प्रवक्ता के अहमियत को कम किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण

बीजापुर@ सत्तारूढ़ दल कांग्रेस बीजापुर जिला के अध्यक्ष बलविंदर सिंह राठौर एवं जिला प्रवक्ता ज्योति कुमार व जगबंधु मांझी की इस वक्त कांग्रेस पार्टी सत्ता में आने के बाद उनके अहमियत को कम किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है । तथा कांग्रेस कमेटी द्वारा सार्वजनिक बयान जारी करना एवं विपक्ष के बयानों का खंडन हेतु स्वयं जिला अध्यक्ष और उनके द्वारा अधिकृत प्रवक्ता द्वारा किया जाना होता है परंतु आजकल कांग्रेसी पार्टी बीजापुर में पूर्णतया विधायक के अधीन हो चुकी है और जिला अध्यक्ष एवं पार्टी के अधिकृत प्रवक्ता को किनारे कर अपने चहेते कार्यकर्ता जो आईटी सेल के अध्यक्ष हैं के माध्यम से सार्वजनिक बयानों का खंडन किया जाना इससे स्पष्ट प्रतीत होता है ,कि कांग्रेस पार्टी संगठन बिखर चुकी है और जिला अध्यक्ष कांग्रेस पार्टी के तथा अधिकृत प्रवक्ताओं के कद को कम किए जाने का प्रयास किया जा रहा है ।तथा कांग्रेस पार्टी में संगठन के दायित्वों की जानकारी का भी आभाव होना स्पष्ट ज्ञात होता है। क्योंकि आईटी सेल का दायित्व संगठन की भीतर सूचना एवं प्रसारण तथा संगठन के कार्यो के प्रति दायित्वादीन होता है। यह भी स्पष्ट होता है कि संगठन में दायित्व सौंपने के बाद उसका कर्तव्य एवं उसके अधिकार क्षेत्र के बारे में ज्ञात नहीं होना इतने बड़े दल के लिए दुर्भाग्यपूर्ण एवं हास्यपद है ।इस समय I.T.सेल के अध्यक्ष विधायक के चहेते होने का फायदा उठाते हुए जिला अध्यक्ष एवं जिला प्रवक्ता के अधिकार क्षेत्र में जाकर बयान बाजी कर उनके अधिकारों को एवं उनकी भूमिका को कम किया जाने का प्रयास जारी है ।एवं पार्टी के कोई भी अनाधिकृत व्यक्ति के बयान को भाजपा द्वारा कोई महत्व नहीं दिया जाता है, भाजपा एक कैडर बेस पार्टी है ,एक संगठित एवं अनुशासित पार्टी है ।केवल पार्टी के समकक्ष व अधिकृत व्यक्तियों के बयानों को ही महत्व दिया जाता है। किसी भी गैर जिम्मेदार व्यक्ति के स्तरहीन बयानों का कोई तवज्जो नहीं देता ।

Leave a comment