छत्तीसगढ़

मजाल है यहां कोई कार्यवाही कर दे क्योंकि माननीय तो सत्ता पक्ष पार्टी के जिलाध्यक्ष जो है

मजाल है यहां कोई कार्यवाही कर दे क्योंकि माननीय तो सत्ता पक्ष पार्टी के जिलाध्यक्ष जो है

जांजगीर चाम्पा:- एक और जहां प्रदेश ही नहीं पूरे विश्व में कोरोना का कहर जारी है।केंद्र सरकार राज्य सरकार इससे निपटने के लिए तमाम प्रयास भी कर रहे है जनता कर्फ्यू लगाकर वही छत्तीसगढ़ के हर जिले धारा 144 लगाकर लोगो की भीड़ कम करने की कोशिश की जा रही है साथ ही ये भी अपील की जा रही है कि वे घर मे ही रहे आवश्यक पड़ने पर ही घर से निकलने की सलाह दी जा रही। वही जनप्रतिनिधि भी लोगो से व्हाट्सएप फेसबुक और सोशल मीडिया के माध्यम से घर मे रहने की भी अपील की जा रही है मगर 23 मार्च को जांजगीर चाम्पा जिले के कांग्रेस के जिलाध्यक्ष महोदय डॉ चोलेश्वर चंद्राकर की सबसे बड़ी लापरवाही देखने को मिली . जहां महोदय को जिलाध्यक्ष बने कुछ दिन हुआ है लेकिन अपने स्वागत सम्मान के लिए नियम कानून तोड़ते दिखे लेकिम माननीय को इन सबसे क्या माननीय को तो अपना स्वागत सम्मान चाहिए माननीय के सम्मान में कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ जुटती है. जहां पर कोरोनावायरस ने लिए जो सावधानी बरतने की बात कही जाती है यह तो दूर की बात यहां पर ना तो कोई इन बातों का पालन किए ना ही जिलाधीश के आदेश धारा 144 का पालन किए. शायद जिला अध्यक्ष महोदय को उनका स्वागत कार्यक्रम उन्हें ज्यादा प्यारा था उनके पार्टी के कार्यकर्ताओं के सेहत से ज्यादा. तस्वीरों में आप भीड़ हो देख अंदाजा लगा सकते है कि यहां कितनी बड़ी लापरवाही जो कि जानबूझकर की जा रही है .जहां देश के बच्चे बूढ़े सभी जान रहे है कि देश के हालात भी कैसा है इस समय मे कांग्रेस जिलाध्यक्ष ये गैर जिम्मेदाराना हरकत जो कि क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है. वहीं ग्रामीण यह भी कहते हैं कि नियम कानून तो सिर्फ आम जनता के लिए है नेता लोगों के लिए कहा. कहना भी जायज है जहां जिले में ग्रामीण अगर घर से बाहर निकले तो पुलिस का डंडा चल रहा है चले भी क्यों ना क्योंकि हालात भी अभी ऐसे हैं कि लोगों को घर में रहने चाहिए क्योंकि इस वायरस से निपटना जो है लेकिन माननीय जिलाध्यक्ष का क्या जिन्होंने पूरी फौज निकाल कर स्वागत समारोह कार्यक्रम ही करा डाली. हाथों में कोरोना से जंग लड़ने का संदेश देता पोस्टर पीछे में भीड़ जुटाकर नियमों की उड़ाई जा रही धज्जियां डॉक्टर चोलेश्वर चंद्राकर भले मुंह में मास्क लगाकर अपने आपको और उनसे बचने की तैयारी तो कर रहे हैं लेकिन वही कार्यकर्ता बिना मात्रा के इस तस्वीर में दिखाई दे रहे हैं वही हाथ में लिए पोस्टर जिसमें पार्टी के दिग्गज नेताओं का फोटो वही "कोरोना भगाओ देश बचाओ" । "सावधानी बरतें कोरोना से दूर रहे ।। स्लोगन भी लिखा हुआ है लेकिन दूसरों को सलाह देने से पहले खुद तो इस सराह को अमल कर लेते . हुआ धारा 144 का उल्लंघन यह जो तस्वीर आप देख रहे हैं यह 23 मार्च की तस्वीर है जहां पूरी दुनिया कोरोनावायरस दहशत में है सरकार जनता कर्फ्यू की अपील कर रही थी वही लोग डाउन की तैयारी चल रही थी जिले में धारा 144 लागू था लेकिन इन सबके बीच जांजगीर-चांपा जिले की कांग्रेस के नए नवेले जिला अध्यक्ष डॉक्टर चोलेश्वर चंद्राकर की सबसे बड़ी लापरवाही देखने को मिली जहां महोदय ने अपनी स्वागत के लिए भारी भरकम भीड़ इकट्ठा कर ली उन्हें इस बात का ख्याल नहीं था कि उनके पार्टी के कार्यकर्ताओं का भी स्वास्थ्य खतरे हो सकता था।

Leave a comment