मनोरंजन

हमर पारा तुंहर पारा गीत से मिला नाम और पहचान -- सिंगर सुनील मानिकपुरी

हमर पारा तुंहर पारा गीत से मिला नाम और पहचान -- सिंगर सुनील मानिकपुरी

सुनील मानिकपुरी को छत्तीसगढ़ी गीत हमर पारा तुंहर पारा ने रातों रात सुपर स्टार बना दिये ये गीत आज हर देश प्रदेश में भी बज रहा है हर किसी की पहली पसंद बन चुकी है ये गीत जिसे अपने खूबसूरत आवाज दिया है सुनील मानिकपुरी ने सुनील बताते है कि वो एक डांसर थे पहले वो दुसरो के साथ छोटे छोटे टीमों में डांस किया करते थे फिर उनने खुद एक गीत की रचना की और 4 साल तक संगीत में गायन की शिच्छा ली फिर उस गीत हमर पारा तुंहर पारा को रिकार्ड किया कहते है जिसके सपने और किस्मत साथ देता है तो इंसान हर मंजिल पा लेता है कुछ ऐसे ही हुआ सुनील के साथ इस एक गीत ने सुनील को नाम और पहचान दिलाई रातों रात सुनील की खुद की संस्था भी चलते है जिसमे वो अपने कलाकरों के साथ स्टेज प्रोग्राम भी करते है सुनील मानिकपुरी एक सुदूर आँचल छत्तीशगढ़ के दूर चिरमिरी जिला कोरिया के रहने वाले है आज की इस फिल्मी दुनिया के चकाचौंध में लोग अपनी पहचान बनाने लाइन देखते रहते है वही बहुत दूर के रहने वाले गाव के एक लड़के ने रातों रात अपनी जगह बनाई और सभी के दिलो में छा गए सुनील मानिकपुरी एक मल्टीटेलेंट कलाकार है जिसके अंदर बहुत सारे गुण है भगवान ने सुनील जैसे कि नाम से ही ही पता चलता है सुनील सुर के धनी सुनील एक सिंगर के साथ साथ अच्छे गीतकार भी है जो अपने सारे गीत खुद लिखते है और डांस भी करते है सुनील का एक नया रूप भी सामने आया जब छत्तीशगढ़ की सुपर डुपर हिट फिल्म love you में सुंदरानी जी ने बतौर खलनायक उनको अपनी फिल्म में काम दिया इस एक फ़िल्म में सुनील ने इंडस्टी के जानेमाने खलनायकों के बीच अपनी खुद की जगह बनाई इस फ़िल्म में दर्शोको ने राकेश के रूप में सुनील की खलनायकी को बहुत पसंद किए सुनील ने इस फ़िल्म से साबित कर दिया कि उसके अंदर कलाकार के सच्चे गुण है आज सुनील के पास सिंगिन के साथ साथ कई फिल्में है जिसमे सुनील अलग अलग भूमिका में नजर आएंगे सुनील कहते है कि फ़िल्म मेरे लिए जरूरी है किउकी फ़िल्म से दर्शको के बीच पहचान बनती है और लोग मुझे फिल्मो में भी देखना चाहते है पर मेरी पहली प्रथमिकता स्टेज है जिसने मुझे नाम और पहचान दी मैं फ़िल्म के साथ साथ स्टेज करते रहुगा सुनील समाज के लिए भी बहुत से काम करते है जिसमे निःशुक वो गरीब बच्चो को छत्तीशगढ़ी गीतों की शिच्छा दे रहे है सुनील को उनके कला और सामाजिक कार्यो को देखते हुए कई सम्मान से सम्मानित भी किया गया है अभी फिलहाल सुनिल स्टेज प्रोग्राम और अपने नए फिल्मो की सूटिंग में बिजी है।

Leave a comment