मनोरंजन

 फिल्म प्रेम अमर हे में  बूढ़े मुनीम जी जवानों को पीछे छोड़ते नजर आएंगे  शैलेंद्र बाजपाई

फिल्म प्रेम अमर हे में बूढ़े मुनीम जी जवानों को पीछे छोड़ते नजर आएंगे शैलेंद्र बाजपाई

रायपुर - कालेज के दिनों में रंगमंच के आर्टिस्ट रहे शैलेंद्र बाजपाई पारिवारिक जिम्मेदारियों के वहन में अपने शौक को त्याग कर व्यस्त रहे, रिटायर होने के बाद अब जब उनको मौका मिला तो उम्र के इस पड़ाव में भी वो दुगुने उत्साह और जोश ऊर्जा से भरे फिल्मी परदे  पर  अपने अभिनय का हुनर दिखा जवानी की यादो को तरोताजा करते नजर आ रहे है,दीवाना* *36गढ़िया फिल्म में उन्होंने पंडित की भूमिका निभायी थी और अब बेहतरीन इंसान समाज सेवी दबंग निर्माता जेठू साहूजी के ॐ शिव साई फिल्म्स गरिमा* प्रॉपटी के बैनर से आने वाली ????प्रेम अमर हे???? फिल्म में ईनका रोल बड़ा और महत्वपूर्ण है,शूटिंग के दौरान इनका जोश जवान लोगो को फेल कर देता था  ऐसा फिल्म के निर्देशक सुनील सागर का कहना है, अपने समय में कई नाट्को में अपनी अभिनय से लोगो का मनोरंजन करने वाले बाजपाई कहते है कि  ????प्रेम अमर हे???? एक सार्थक सन्देश देती पारिवारिक फुल मनोरंजन से भरी फिल्म है निर्देशक सुनील सागर के कार्य शैली से वो बहुत प्रभावित है क्योंकि सुनील खुद एक थियेटर आर्टिस्ट रहे है इसलिए कलाकारो से कैसे एक्ट कराना है उन्हें बखूबी पता था इस फिल्म के डायलॉग जबर्दस्त है इसमें मेरा एक मुनीम का रोल है जिसका तकिया कलाम(ब्याज बढ़ाके)अलग ही अंदाज़ में मजेदार एक्सेंट में निर्देशक सुनील सागर ने मुझसे बोलवाया है,जो दर्शको को पसंद आएगा,एक अच्छी फिल्म का हिस्सा बनना मेरे लिए हर्ष की बात है बाजपाई का कहना है कि  छोलिवुड इंडस्ट्री सिमित संसाधन में भी बेहतर से बेहतर की ओर आगे बढ़ता जा रहा है अब फिल्मो में हमे अन्य फिल्म इंडस्ट्री की तरह मनोरंजन के साथ2 अलग अलग अच्छे विषयो पर  उद्देश्यपूर्ण प्रयोगात्मक  फिल्में बनांनी चाहिए जिससे हमारे इंडस्ट्री को पहचान मिले ।फिल्म विकास निगम बनने से अब आशा की लहर व्याप्त हुई है ,

Leave a comment