मनोरंजन

फरत की हर सीमा को लांघती फिल्म  प्रेम अमर है  प्रदेश के सिनेमाघरों में १२ अक्टूबर से

फरत की हर सीमा को लांघती फिल्म प्रेम अमर है प्रदेश के सिनेमाघरों में १२ अक्टूबर से

रायपुर -  युवा दिलों के सच्चे प्यार पर आधारित कई फिल्मे बन चुकी है परंतु कुछ फिल्मे इतिहास भी रचती है जैसे 12 अक्टूबर को रिलीज हो रही 'प्रेम अमर है' फिल्म है। ओम शिव साँई फिल्म्स व गरिमा प्रॉपर्टीज़ निर्माता जेठू साहू  एवम सुनील सागर कृत की यह बेमिसाल प्रस्तुति है। फिल्म में प्यार की  जज्बाती दास्तां को बखूबी पिरोया गया है  जिसमे कुंठित मानसिकता के खिलाफ  विद्रोह की झलकियां भी इस फिल्म में दिखाई देगी। एक जमींदार जो अपने रसूख के आगे किसी को कुछ भी नही समझता परंतु उसका यह घमण्ड तब चुर-चुर हो जाता है, जब उसकी अपनी बेटी एक साधारण परिवार के सुन्दर, सजीले और ईमानदार युवा को  दिल दे बैठती है, फिर शुरू होता है उनके बीच संघर्ष...!  के निर्देशक सुनील सागर इस विषय पर काफी समय से काम कर रहे थे, जो अब साकार हो सका और 12 अक्टूबर को पूरे राज्य के सभी स्क्रीन्स पर एक साथ रिलीज होने जा रही है।संगीत दिलो  की धड़कने बढ़ाती है, क्योंकि प्रेम पर आधारित फिल्म होने की वजह से संगीत पर विशेष ध्यान दिया गया है। फिल्म की मुख्य भूमिका में रजनीश झांझी, केशव वैष्णव, ग्लोरी मोहंता, उपासना वैष्णव, ऊषा विश्वकर्मा,मंदिरा नायक,लेखाश्री नायक, गुलशन साहू,पूजा देवांगन, अनिकृति चौहान,शोना द्विवेदी,संतोष यादव  दुर्गा सरकार,विनु क्रोक्स,मनीषा वर्मा, हैश जैन(बॉलीवुड)किशोर मंडल,आरती वंशकार,आनंद तांबे,शैलेंद्र बाजपाई,dr प्रकाश कश्यप,संतोष पाटले,धर्मेंद्र सेन,सुनील दत्त मिश्र,इत्यादि हैं। विजय भौमिक,आशु निर्मलकर,आनंद सेन,विजय निषाद,पूजा आदित्य,सोनू महंत और भी बहुत से प्रतीभाषाली क्लाकार है ,कहानी सुनील सागर का है, पटकथा व संवाद डॉ मानक टण्डन, क्रिस कुर्रे, सुनील सागर ने लिखा है। गीतकार कैलाश मांडले,परमानंद वैष्णव,गोपी वर्मा,सुनील सागर है। संगीत पक्ष को मजबूत बनाया है परमानंद वैष्णव, जगमोहन यादव ने और कैमरा वासु ने सम्हाला है । कोरियोग्राफी विलास राउत, राम यादव, बिनु क्रोक्स ने किया है। म्यूजिक अरेंजिंग में सूरज महानन्द शामिल है और मेकअप विलास राउत और हेयर पूजा आदित्य ने किया है।vvv

Leave a comment