कृषि

 उद्यानिकी रोपणी के वेजिटेबल सीडलिंग यूनिट को एक महीने में फिर से शुरू करने के निर्देश

उद्यानिकी रोपणी के वेजिटेबल सीडलिंग यूनिट को एक महीने में फिर से शुरू करने के निर्देश

 रायपुर, 0 8 मार्च 2019उद्यानिकी एवं प्रक्षेत्र वानिकी विभाग के संचालक डॉ प्रभाकर सिंह ने आज रायपुर जिले की विभिन्न विभागीय रोपणियों का आकस्मिक रूप से निरीक्षण किया। उन्होंने शासकीय उद्यान रोपणी, सोकरनाला में वेजिटेबल सीडलिंग यूनिट के पिछले तीन वर्षो से बंद की जानकारी मिलने पर अप्रसन्नता व्यक्त की और एक महीने में फिर से शुरू करने के निर्देश दिए। इस यूनिट के बनने से नए पौधे तैयार कर किसानों को उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी।
 उद्यानिकी संचालक ने यहां के उद्यान अधीक्षक एवं उप संचालक, रायपुर को यह भी निर्देश दिया कि नए क़िस्म के मदर ब्लाक के साथ-साथ मौसमी फल, फूल एवं सब्ज़ी के पौधे तैयार कर विक्रय करने के लिए रोपणी में एक विक्रय केंद्र बनाने को भी कहा।
    मंदिर हसौद की मनरेगा नर्सरी के निरीक्षण के दौरान संचालक उद्यानिकी ने पाया कि नन्हे पौधों से दो शाखाएं एक साथ निकल रही है उनमंे से एक शाखा को छोड़ बाकी शाखाओं को काटने के निर्देश दिए, जिससे पौधे का तना मोटा और स्वस्थ्य हो तथा बडे होने पर उसका आधार मजबूत बने । उन्होंने रोपणी में ’मॉडल बाड़ी’ के निर्माण किए जाने के लिए भी निर्देशित किया। उन्होंने उद्यानिकी विभाग के अंतर्गत संचालित फल परिरक्षण एवं प्रशिक्षण केंद्र तथा प्रमुख उद्यान के के कार्य के प्रगति एवं बजट की स्थिति की समीक्षा की और इसके माध्यम से लोगों को प्रोत्साहित करने तथा अधिक से अधिक जानकारी देने को कहा।
    डॉ. सिंह ने बीज प्रगुणन प्रक्षेत्र, बाना का भी निरीक्षण किया गया। उन्होंने यहां प्लग टाइप वेजिटेबल प्रोडक्शन यूनिट, मिस्ट चैम्बर, हार्डनिंग चैम्बर का निरीक्षण किया तथा आर्किड के पौधों संरक्षित खेती करने तथा प्रक्षेत्र में संरक्षित खेती के अंतर्गत उच्च घनत्व (हाई डेन्सिटी क्रॉप) वाली फसलों को लेने की सलाह दी गयी। उन्होंने बीज विक्रय के सम्बन्ध में पैकेजिंग मशीन खरीदने हेतु निर्देश दिए। इस अवसर पर संयुक्त संचालक  एस के अग्रवाल, संयुक्त संचालक  के के मिश्रा, सहित उद्यानिकी विभाग के अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a comment