राजधानी

श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी रायपुर के कंप्यूटर साइंस विभाग  द्वारा कैरियर काउंसलिंग एंड गाइडेंस विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन

श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी रायपुर के कंप्यूटर साइंस विभाग द्वारा कैरियर काउंसलिंग एंड गाइडेंस विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन

रायपुर, 7 मई 2021- श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी रायपुर के कंप्यूटर साइंस विभाग द्वरा कैरियर काउंसलिंग एंड गाइडेंस विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की शुरुआत प्रेरणास्रोत कुलाधिपति महोदय श्री रविशंकर जी महाराज जी के आशीर्वाद से, माँ सरस्वती के वंदन से किया गया। कार्यक्रम के मुख्यवक्ता श्री ओ.पी. चौधरी पूर्व-आईएएस अधिकारी रहें. विशिष्ट वक्ता के रूप में यूनिवर्सिटी के प्रति-कुलाधिपति श्री राजीव माथुर रहे एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. (डॉ.) राजेश कुमार पाठक ने किया। कार्यक्रम के मुख्यवक्ता श्री ओ.पी. चौधरी पूर्व-आईएएस अधिकारी ने अपने वक्तव्य में कहा कि जीवन में खुशियां हासिल करने के लिए एक बेहतरीन करियर का होना आवश्यक है।

साथ ही उन्होंने बताया कि अगर विद्यार्थी भाषा, समसामयिक घटनाओं पर नजर, लेखन शैली, बोलने की शैली एवं तेज गति से लेखन कर सफलता की नई इबारत लिख सकते हैं। विशिष्ट वक्ता प्रति-कुलाधिपति, श्री राजीव माथुर ने कहा कि श्री ओ.पी. चौधरी ने अपने पहले ही प्रयास में आईएएस बनकर न केवल छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया अपितु उन धारणाओं को भी तोड़ा की सफल होने के लिए जरुरी नहीं है कि आप बड़ें शहरों में रहते हो, अच्छी अंग्रेजी बोलते हो, अपितु सफलता का एक मात्र मूल मंत्र आप के द्वारा ईमानदारी से किया गया प्रयास है। यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. (डॉ.) राजेश कुमार पाठक ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि छात्रों के लिए कैरियर परामर्श बहुत जरूरी है। इससे उनको सही दिशा और सही कैरियर चुनने में मदद मिलती है, जिससे छात्र आसानी से आगे बढ़ सकते हैं।

उक्त कार्यक्रम श्री कोमल यादव विभागाध्यक्ष, कंप्यूटर साइंस विभाग के संयोजन एवं श्री विवेक वर्मा सहायक प्राध्यापक के सह-संयोजन में आयोजित किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रो. (डॉ.) शोभना झा, अधिष्ठाता, कला संकाय द्वारा किया गया। आभार प्रदर्शन सुश्री स्तुति सिंह सहायक प्राध्यापक, वाणिज्य विभाग द्वारा किया गया. इस अवसर प्रदेश व अन्य राज्यों के महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों के प्राध्यापकों, शोधार्थियों, इंटरनेशनल स्कूल एवं नर्सिंग इंस्टीट्यूट के प्राचार्या व विद्यार्थियों, यूनिवर्सिटी परिवार के विद्यार्थियों एवं 500+ प्रतिभागियों की सक्रीय सहभागिता रहीं।

Leave a comment