क्राइम

बिलासपुर- स्कूली छात्रा को कार से लिफ्ट देकर ,मारने की दी धमकी फिर किया दुष्कर्म ...आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बिलासपुर- स्कूली छात्रा को कार से लिफ्ट देकर ,मारने की दी धमकी फिर किया दुष्कर्म ...आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बिलासपुर- स्कूली छात्रा को कार से लिफ्ट देकर सुनसान इलाके में मारपीट व जान से मारने धमकी देकर दुष्कर्म मामले में फरार मुख्य आरोपी समेत सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, और उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है। बता दें, बीते 26 जनवरी को सरकंडा क्षेत्र में रहने वाली स्कूली छात्रा अपनी छोटी बहन के साथ अपने स्कूल देवकीनंदन में होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम को देखकर घर लौट रही थी। जब दोनों जबड़ापारा चौक पहुंचे, तो उनके पड़ोसी दीपक सिंह ने अपनी कार में लिफ्ट देकर उसे घर छोड़ने का ऑफर दिया। उस कार में दीपक सिंह के साथ उसके कुछ दोस्त भी सवार थे। किशोरी ने साथ जाने से मना किया, लेकिन जोर देने पर वह अपनी बहन के साथ दीपक सिंह के आई10 कार क्रमांक सीजी 13 सी 3331 में बैठ गई। आरोपी दोनों स्कूली छात्राओं को घर छोड़ने की बजाय उन्हें लेकर बिरकोना क्षेत्र के सुनसान इलाके में पहुंच गए। जहां सबने चाऊमीन और कोल्ड ड्रिंक खाया। इसी बीच दीपक ने अपने दो और साथियों योगेश वर्मा और राहुल देवांगन को भी वहीं बुला लिया। इसी बीच छात्रा ने लघुशंका में जाने की बात कही तो योगेश वर्मा उसे टॉयलेट दिखाने के नाम पर पास के जर्जर मकान में ले गया, जहां उसकी नियत बिगड़ गई, और उसने स्कूली छात्रा के साथ अश्लील हरकत करना शुरू कर दिया। जब पीड़ित किशोरी ने उसे ऐसा करने से मना किया, तो योगेश ने अपना बेल्ट निकाल कर उसे मारा पीटा, और उसे डरा धमका कर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया। जिसके बाद उसने यह बात किसी को नहीं बताने की धमकी दी, और मौके से फरार हो गया। इस घटना के बाद कार चालक ने पीड़िता और उसकी छोटी बहन को सरकंडा पुल के पास छोड़ा और सब भाग गए। घर लौट कर पीड़ित छात्रा ने घटना का जिक्र अपने पिता और सहेली से किया। इसके बाद सरकंडा थाने में पॉक्सो एक्ट और धारा 376, 34 के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपियों की तलाश शुरू की। पुलिस ने जबडापारा पुराना पुल के पास से अशोकनगर बिरकोन तक सीसीटीवी कैमरे के फुटेज चेक किए, तो उन्हें कार के लोकेशन और मालिक की जानकारी हुई, जिसके आधार पर आई 10 कार के मालिक दीपक सिंह ठाकुर को पुलिस ने सबसे पहले गिरफ्तार किया। दीपक सिंह के मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस जबड़ापारा स्थित उसके घर पहुंची, लेकिन दीपक घर से फरार था। इस बीच पुलिस को सूचना मिली, कि दीपक सिंह राजकिशोर नगर में अपने दोस्त के यहां छुपा हुआ है, और रायपुर भागने की तैयारी कर रहा है। इसके बाद पुलिस ने तत्काल घेराबंदी कर दीपक सिंह को घटना में प्रयुक्त कार के साथ धर दबोचा,नजिससे पूछताछ में अन्य आरोपियों का खुलासा हुआ। दीपक ने पुलिस को बताया, कि योगेश वर्मा, राहुल देवांगन और अन्य तीन नाबालिग दोस्तों के साथ मिलकर उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया था, लेकिन पुलिस ने जब आरोपियों की तलाश शुरू की, तो सभी फरार हो गए। इसी बीच घटना में शामिल तीन नाबालिग आरोपी अरपा नदी के पास धर दबोचे गए, लेकिन मामले का मुख्य आरोपी योगेश वर्मा और उसका साथी राहुल देवांगन लगातार अपना लोकेशन बदल रहे थे। दोनों शातिर लगातार अलग-अलग नंबरों का भी इस्तेमाल अपने घर वालों से संपर्क में कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

Leave a comment