क्राइम

ब्याज की रकम वापस नहीं करने का आरोप लगाते हुए की थी हत्या,- युवक को उम्र कैद,-  पिता को हत्या के प्रयास मे 10 साल की सजा

ब्याज की रकम वापस नहीं करने का आरोप लगाते हुए की थी हत्या,- युवक को उम्र कैद,- पिता को हत्या के प्रयास मे 10 साल की सजा

 

24 सितंबर 2018 को हुई थी घटना 

जांजगीर-चांपा जिले मे उधार में लिए गए पैसे को वापस करने के बाद भी ब्याज की रकम वापस नहीं करने का आरोप लगाते हुए सत्तर वर्ष के वृद्ध की हत्या और वृद्ध के बेटे पर जानलेवा हमला करने वाले आरोपी युवक को आजीवन कारावास और हत्या के प्रयास के आरोपी उसके पिता को दस वर्ष सश्रम कारावास की सजा सत्र न्यायाधीश राजेश श्रीवास्तव ने सुनाई है। 

दरअसल पुरानी बस्ती भगत चौक निवासी प्रमोद राठौर और निरंजन राठौर से मोहल्ले के ही विष्णु प्रसाद निर्मलकर ने उधार पैसा लिया था। जिसे वह वापस कर चुका था, लेकिन कर्ज देने वाले निरंजन राठौर और प्रमोद राठौर उससे 20 प्रतिशत ब्याज की दर से पैसा मांग रहे थे। 24 सितंबर 2018 को रात में आरोपी प्रमोद और उसके पिता निरंजन विष्णु प्रसाद निर्मलकर के घर पहुंचे, उस समय घर में मात्र महिला थी। आरोपियों ने विष्णु प्रसाद निर्मलकर को मारना शुरू कर दिया। जिस समय घटना हो रही थी, उसी समय प्रदीप बरेठ पहुंचा। उसने पूरी घटना को देखा। इसी बीच विष्णु प्रसाद का बेटा गौरीशंकर भी घर पहुंचा तो उसपर भी जानलेवा हमला किया गया। विष्णु प्रसाद की इलाज के दौरान जिला अस्पताल में मौत हो गई, वहीं गौरीशंकर को बिलासपुर रेफर किया गया था। मामले में पुलिस ने दोनों के खिलाफ हत्या और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया था। सुनवाई के बाद सत्र न्यायाधीश राजेश श्रीवास्तव ने चाकू से वार कर हत्या के आरोप में प्रमोद राठौर को आजीवन सश्रम कारावास तथा 20 हजार रुपए अर्थदंड व हत्या के प्रयास के आरोप में 10 वर्ष सश्रम कारावास अर्थदंड की सजा सुनाई है। 

Leave a comment