क्राइम

भाटापारा में वर्दीवालों और सट्टा खाईवालों में  खट्टी

भाटापारा में वर्दीवालों और सट्टा खाईवालों में खट्टी

भाटापारा क्षेत्र के कुख्यात सट्टा खाई वालों में इन दिनों अचानक हड़कंप मच गया है। वे इस बात से खासे परेशान हैं कि अचानक पुलिस को क्या हो गया है और वह उनके पीछे हाथ धोकर क्यों पड़ी है । ये सट्टा खाईवाल और ऐसे अन्य यहां दशकों से अवैध सट्टे के धंधे से खुद को और कई कानून के रखवालों को लाल और मालामाल कर चुके हैं । इसलिए इन पर कभी तगड़ी कार्यवाही नहीं हो पाती लेकिन, वर्तमान में पुलिस अधीक्षक कुछ दूजे किस्म के हैं…। इनके निर्देश के बाद सट्टा खाईवालों की शामत आ गई है। सट्टा खाईवालों को पकड़ने में बहाने बनाती नजर आती पुलिस को अब सट्टा खाईवालों के न केवल ठिकाने पता चल रहे हैं बल्कि, उन्हें अब दबोचा भी जा रहा है । पुलिस के घर देर है पर अंधेर नहीं की तर्ज पर अब शहर के अधिकांश घोषित बड़े सट्टा खाईवाल जो अब तक मैनेजमेंट पर भरोसा रखते हुए किसी से खौफ नहीं खाते थे वह भी अब उठाए जा रहे हैं । दिनांक 10-12-2021को मुखबीर के सूचना पर हटरी बाजार भाटापारा में रकम लेख कर अधिक रकम मिलने का लालच देकर सट्टा जुआ खेला चल रहा है, कि सूचना पर भाटापारा शहर पुलिस द्वारा गवाहों को साथ लेकर मुखबीर के बताये स्थान पर जाकर घेराबंदी, रेड कार्यवाही कर आरोपी 01-इमरान खान पिता आमन रसीद उम्र 37 साल पता सदर वार्ड भाटापारा 02-दीपक कलवानी पिता जयरामदास कलवानी उम्र 41 साल पता महासती वार्ड भाटापारा 03-खिलेश कुमार अहिरवार पिता मनोहर अहिरवार उम्र 26 साल पता संत रविदास वार्ड भाटापारा 04- प्रदीप मनहरे पिता मनोज मनहरे उम्र 21 साल पता संत रविदास वार्ड भाटापारा 05- सीताराम वैष्णव पिता रामदास वैष्णव उम्र 50 साल पता मातादेवालय वार्ड भाटापारा 06- मोहनदास मानिकपुरी पिता संतनदास मानिकपुरी उम्र 70 साल पता मुंशी इस्माईल वार्ड भाटापारा 07-गोविंद शर्मा पिता रामेश्वर प्रसाद शर्मा उम्र 50 साल पता के के वार्ड भाटापारा 08. किशन यादव पिता माखन लाल यादव उम्र 24 साल पता नेहरू वार्ड भाटापारा को पकडा गया। इन सभी सट्टेबाजों के कब्जे से नगदी रकम 15200/रू एवं अंको का सटटा पटटी लिखा जप्त कर कब्जा पुलिस में लिया गया। आरोपीयों का कृत्य अपराध धारा 4 क जुआ एक्ट का घटित करना पाये जाने से थाना भाटापारा शहर में पृथक-पृथक अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। उक्त कार्यवाही मे सउनि ओम साहू, प्रधान आरक्षक नरेन्द्र निषाद, आरक्षक श्रीचंद ध्रुव, कमल किशोर साहू का विशेष योगदान रहा। भाटापारा के सबसे बड़े खाईवाल इसमें फरार है 8 खाईवालों के खिलाफ धर पकड़ की कार्रवाई को अंजाम दिया है। भाटापारा के यह वही सट्टा खाईवाल हैं जो कभी वर्दीधारी अधिकारी की सेवा के लिए परेड करते हुए देखे जाते थे। कार्यवाही चर्चा का विषय बना हुआ है ।वही शहर में चर्चा है कि पर दबोचे गए खाईवालों के कब्जे से लाखों की सट्टा-पट्टी के साथ बड़े पैमाने पर कैश भी बरामद किए गए हैं। सटोरियों के कार्यवाही के बाद मीडिया को भी दूर रखा गया और आनन-फानन में शाम को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी गई । माना जा रहा है कि हिरासत में लिए गए सभी सटोरियो की जन्मकुंडली निकाला जाए तो और कई बड़े राज खुल सकते है ।

Leave a comment