क्राइम

गुंडागर्दी एवं दहशत गर्दी करने वाला आरोपी संतोष कैवर्त ,उपजेल बलौदाबाजार दाखिल

गुंडागर्दी एवं दहशत गर्दी करने वाला आरोपी संतोष कैवर्त ,उपजेल बलौदाबाजार दाखिल

गिधौरी:-पुलिस चौकी लवन अंतर्गत ग्राम पंचायत तिल्दा में आरोपी संतोष कैवर्त पिता स्वर्गीय विदेश कैवर्त शराब एवं पंच पद के नशे में चुर होकर आए दिन गांव के गली मोहल्ले में गुंडागर्दी,दहशतगर्दी एवं अशांति व्यवस्था फैला रहा था।जिससे मोहल्ले वासियों का जीना मुश्किल हो गया था । संतोष कैवर्त सार्वजनिक जगहों पर गुंडागर्दी,एवं दहशतगर्दी तो करता था लोगों के घर में घुसकर मारपीट की घटना को अंजाम देता था।जिससे गांव के लोगों में संतोष कैवर्त के खिलाफ आक्रोश का आलम निर्मित था।आरोपी संतोष कैवर्त के खिलाफ पुलिस चौकी लवन को अनगिनत शिकायत प्राप्त हुआ था।आरोपी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा था।गौरतलब हो कि आरोपी संतोष कैवर्त वर्तमान में ग्राम पंचायत तिल्दा के वार्ड क्रमांक 10 का निर्वाचित पंच है।ऐसे विवादित व्यक्ति को वार्ड वासियों ने पंच कैसे चुन लिया यह भी बहुत बड़ा आश्चर्य की बात है।यदि आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त व्यक्ति जनप्रतिनिधि निर्वाचित होंगे तो स्वाभाविक है गांव के गलियारों एवं मोहल्ले में अशांति व्यवस्था का पनपना कोई बड़ी बात नहीं होगी।संतोष कैवर्त जैसे लोग पंच पद एवं शराब के नशे में चुर होकर गांव में अशांति व्यवस्था फैलाने के साथ साथ कोई भी अप्रिय घटना को अंजाम देने से पीछे नहीं हटते हैं ।ऐसे लोगों के चलते गॉव में रहने वाले भोले भाले लोगों का जीवन नरकीय होता है।आरोपी संतोष कैवर्त गॉव के ही लक्ष्मण पिता फिरंगी कैवर्त के साथ गाली गलौच एवं मारपीट करने पर उतारू हो गया था।जिसकी शिकायत पुलिस चौकी लवन को पीड़ित लक्ष्मण कैवर्त्य ने 23 अक्टूबर को किये थे।इसके पूर्व आरोपी संतोष कैवर्त के खिलाफ 21 सितंबर,24 सितंबर 03 अक्टूबर को भी पुलिस चौकी लवन को लिखित शिकायत प्राप्त हुआ था।आरोपी संतोष कैवर्त्य मोहल्ले वासियों एवं पुलिस के नाक में दम करके रखा था।जिसकी तलाश पुलिस को विगत कुछ दिनों से था ।आरोपी संतोष कैवर्त को गांव के कुछ अपराधिक किश्म के व्यक्तियों द्वारा पीछे से हिम्मत दिये जा रहे थे जिसके चलते वह कानून को हाथ मे लेकर अपराध को अंजाम देता था।संतोष कैवर्त केवल एक मोहरा है इसके पीछे रहने वाले भी पुलिस की रडार में हैं।संतोष कैवर्त को मोहरा बनाकर उपयोग करने वाले दरिंदे भी सलाखों के पीछे जाने वाले हैं।वहीं एक बात यह भी सामने आया है कि आरोपी संतोष कैवर्त के हरकतों से हर कोई परेशान था।कुछ ग्रामीणों ने मीडिया को बताया कि पंचायतीराज अधिनियम की धारा 40 के तहत आरोपी संतोष कैवर्त को पंच पद से बर्खास्त करने की मांग जिला कलेक्टर बलौदाबाजार एवं मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन से किये जाने की बात कहा है।आरोपी संतोष कैवर्त पंच पद एवं शराब के नशे में इतना चुर था कि सार्वजनिक जगहों पर लोगों से दादागिरी कर मारपीट करने पर उतारू हो जाता है।ऐसे पंच के चलते अन्य पंच प्रतिनिधियों की छवि धूमिल हो रहा है। एक पुरानी कहावत है , हर आरोपी को उनके सही अंजाम तक पुलिस अवश्य पंहुचाता है और आखिरकार आरोपी संतोष कैवर्त के खिलाफ पुलिस चौकी प्रभारी यशवंत प्रताप सिंह के नेतृत्व में प्रधान आरक्षक देवेंद्र देवांगन,प्रधान आरक्षक मन्नू लाल ध्रुव,आरक्षक निरंजन सेन ,आरक्षक साहू, आरक्षक खटकर, आरक्षक नंदू यादव,आरक्षक राय, सहित पुलिस स्टाफ़ ने उत्कृष्ट कार्रवाई करते आरोपी संतोष कैवर्त को गुंडागर्दी करने पर धारा 151 की तहत शनिवार को गिरफ्तार कर एस डी एम न्यायालय बलौदाबाजार पेश किये थे।जहां एस डी एम ने आरोपी की हरकतों को जानकर उपजेल बलौदाबाजार भेजने का निर्देश जारी किये ।आरोपी के जेल जाने से आम जनमानस में खुशियों का माहौल है।आम जनमानस ने पुलिस चौकी लवन एवं एस डी एम बलौदाबाजार के प्रति आभार एवं धन्यवाद जताया है।

Leave a comment