देश

आदित्यनाथ को पंचक्रोशी यात्रा का अधिकार नहीं है : अविमुक्तेश्वरानंद ।।

आदित्यनाथ को पंचक्रोशी यात्रा का अधिकार नहीं है : अविमुक्तेश्वरानंद ।।

सुदीप्तो चटर्जी "खबरीलाल" (काशी) ::- जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य प्रतिनिधि दंडी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा है कि जो व्यक्ति हिन्दू होकर पुराणों में वर्णित काशी के मंदिरों को तोड़वाये उनको पंचक्रोशी यात्रा का अधिकार नहीं है। आगे स्वामिश्री ने कहा कि एक तरफ उनके प्रशासन द्वारा पुराणों में वर्णित मंदिरों को तोड़ा गया और दूसरे ओर योगी आदित्यनाथ पंचक्रोशी यात्रा करना चाहते हैं ? यह पूरा का पूरा ढोंग है जो हिन्दुत्त्व का चोला पहनकर जनता को अपने भरोसे में लेकर, उनका वोट लिए और शासन में काबिज हो गए। आज स्थिति ऐसी हो गई कि हिंदुत्त्व वादी सरकार खुद पुराणों में वर्णित काशी के मन्दिरों को तोड़ दिए वो भी सौन्दर्यकरण हेतु, विकास हेतु। आपको यदि विकास ही करना है तो आप ग्रेटर काशी या ग्रेटर वाराणसी बनाइये। पुराने काशी, गलियों के काशी, मन्दिरों के काशी, घाटों के काशी आदि को देखने हेतु देश और विदेश से श्रद्धालु आते हैं और इसी काशी के मंदिरों को तोड़ रहे हो। यह विकास है कि विनाश है। क्या यही है सबका साथ-सबका विकास। हम और वाराणसी के समस्त सनातन धर्मी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पंचक्रोशी यात्रा का कड़े स्वर में विरोध करते हैं।

Leave a comment