देश

मंदिर बचाओ आन्दोलनम को मिल रहा है जनता का पूर्ण समर्थन।

मंदिर बचाओ आन्दोलनम को मिल रहा है जनता का पूर्ण समर्थन।

जनता हाथ उठाकर ले रही है मंदिर बचाने का संकल्प ।। सुदीप्तो चटर्जी "खबरीलाल" (काशी) ::- ज्योतिष एवं द्वारका शारदा पीठ के पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य प्रतिनिधि दंडी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती: विगत 2 माह से काशी के प्राचीन व पुराणों में वर्णित मंदिरों को बचाने हेतु प्रयासरत हैं जिसके तहत स्वामिश्री ने नंगे पांव पंचक्रोशी की यात्रा कर देवी-देवताओं से माफी मांगी और उनसे प्रार्थना किये की वे किसी भी तरह के कोप काशी वासियों के ऊपर न दें। इसी क्रम में स्वामिश्री के नेतृत्त्व में मंदिर बचाओ आन्दोलनम के समर्थक "मंदिर बचाओ महायज्ञ" हेतु आमंत्रण देने वाराणसी जिले के 1333 गांवों में जाकर आमंत्रण देने का संकल्प लिया जिस हेतु 5 जून 2018 से ही आमंत्रण यात्रा प्रारंभ हो चुका है। आज 6 जून 2018 को "आमंत्रण यात्रा" के दूसरे दिन स्वामिश्री ग्राम भवानीपुर, गनियालपुर, पिसौर, गणेशपुर तरना, सभाईपुर, वासुदेवपुर एवं चुप्पेपुर गए तथा सभा को संबोधित करते हुए सभी गांव वासियों को 28 जून से केदारघाट, वाराणसी में आयोजित होने वाले "मंदिर बचाओ महायज्ञ" हेतु आमंत्रण किया। स्वामिश्री एवं अन्य वक्ताओं के बातों को सुनकर प्रत्येक उपस्थित गांव वासियों ने संकल्प लिया कि वे काशी के मंदिरों को बचाने हेतु स्वामिश्री को पूरा सहयोग प्रदान करेंगे एवं मंदिर बचाओ महायज्ञ में सम्मिलित होकर आहुति देंगे तथा सभी देवताओं से निवेदन करेंगे कि वे काशी को छोड़कर न जाये और शासन व प्रशासन को सद्बुद्धि दे ताकि वे काशी के मन्दिरों को न तोड़े अपितु जो मंदिर व देव विग्रह तोड़े गए हैं उन्हें ससम्मान दोबार मंदिरों का निर्माण कर उनका प्राणप्रतिष्ठा कर पूजार्चना की व्यवस्था करें।

Leave a comment