देश

स्वामिश्री ने मंदिर बचाओ महायज्ञ हेतु गांव वासियों को दिया आमंत्रण।

स्वामिश्री ने मंदिर बचाओ महायज्ञ हेतु गांव वासियों को दिया आमंत्रण।

सुदीप्तो चटर्जी "खबरीलाल"(काशी) ::- काशी में चल रहे मंदिर बचाओ आन्दोलनम के द्वितीय चरण की शुरुवात 3 जून 2018 को नीलकंठ मंदिर परिसर में कार्यालय के शुभारंभ के साथ प्रथम सभा आयोजित किया गया तथा उस दिन ही घोषित हुआ था कि वाराणसी शहर के 90 वार्डों के साथ साथ पूरे 1333 गांवों में मंदिर बचाओ महायज्ञ हेतु आमंत्रण यात्रा की शुरुवात 5 जून 2018 को होगी। इसी तारतम्य में ज्योतिष एवं द्वारका शारदा पीठ के पीठाधीश जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य प्रतिनिधि दंडी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती: ने आज 5 जून 2018 को "आमंत्रण यात्रा" के तहत वाराणसी से संलग्न गांव - बड़ा लालपुर, दानुपुर, कानुडीह, अहमदपुर एवं लोढ़ान में समस्त गांव वासियों को 28 जून से केदारघाट, वाराणसी में मंदिर बचाओ महायज्ञ हेतु आमंत्रण दिया तथा पुराणों में वर्णित काशी के मंदिरों तथा देवताओं को तोड़े जाने की सूचना दी जिससे गाँव वाले अवाक हो गए। इस विषय को विस्तृत रूप से मंदिर बचाओ आन्दोलनम से जुड़े रमेश उपाध्याय, श्रीप्रकाश पांडेय, सत्य प्रकाश श्रीवास्तव, रूपेश एवं विमलेंदु ने प्रकाश डाला जिस पर सभी गांव वासियों ने कड़े स्वर में मंदिरों को तोड़े जाने का विरोध किया तथ स्वामिश्री के मंदिर बचाओ महायज्ञ के आमंत्रण को स्वीकार करते हिये स्वामिश्री का आशीर्वाद प्राप्त किया। स्वामिश्री: के सामने उपरोक्त गांवों के उपस्थित महिला, पुरुष एवं बच्चों ने काशी के मन्दिरों को बचाने हेतु संकल्प लिया तथा यह भी कहा कि वे इस बाबत गांव के अन्य सदस्यों को भी अवगत करवाएंगे और मंदिर बचाओ महायज्ञ में शामिल भी होंगे जिससे देवतागण काशी से रूठकर चले न जाएं और देवताओं का कोई कोप वाराणसी तथा वाराणसी जिले वासियों के ऊपर न पड़े। आज के इस आमंत्रण यात्रा में मयंक शेखर मिश्रा, दीपेश पांडेय, कृष्णा पराशर, सत्यम शर्मा, प्रशांत त्रिपाठी, शैलेश तिवारी, किशन जायसवाल, रूपेश तिवारी एवं राजेन्द्र दुबे सम्मिलित हुए।

Leave a comment