देश

Indian Railways: 15 अक्टूबर से फेस्टिव सीजन के दौरान चलाई जाएंगी 200 विशेष ट्रेनें

Indian Railways: 15 अक्टूबर से फेस्टिव सीजन के दौरान चलाई जाएंगी 200 विशेष ट्रेनें

नई दिल्लीः-भारतीय रेल त्योहारी सीजन को देखते हुए अतिरिक्त स्पेशल गाड़िया चलाने की प्लानिंग कर रहा है ताकि ट्रेनों में त्योहार के समय ज्यादा भीड़भाड़ न हो। बता दें कि त्योहार के समय गाड़ियों में सबसे ज्यादा भीड़ देखने को मिलती है। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी वीके यादव ने गुरुवार को कहा, रेलवे 15 अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच 200 स्पेशल ट्रेनें शुरू करने की योजना बना रहा है।

रेलवे ने वर्तमान में सभी नियमित यात्री ट्रेनों को अनिश्चितकाल के लिए रद्द कर दिया है। कोरोना वायरस महामारी के कारण 22 मार्च से रेलवे ने सभी नियमित ट्रेनों को रद्द कर दिया था। इसके बाद रेलवे ने 12 मई से देश के विभिन्न हिस्सों से दिल्ली को जोड़ने वाली प्रीमियम राजधानी स्पेशल ट्रेनों के 15 जोड़े का संचालन शुरू किया और 1 जून को 100 जोड़ी लंबी दूरी की ट्रेनों का परिचालन शुरू किया। रेलवे ने 12 सितंबर से 80 ट्रेनें अतिरिक्त चलाई थी।

वीके यादव ने कहा, हमने जोनों के महाप्रबंधकों के साथ बैठकें की हैं और उन्हें स्थानीय प्रशासन के साथ बात करने और कोरोना वायरस की स्थिति की समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। स्थानीय प्रशासन से एक रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है, जिसके बाद हम तय करेंगे कि छुट्टियों के मौसम में कितनी और गाड़ियों को चलाया जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘अब तक का अनुमान है कि हम लगभग 200 ट्रेनें चलाएंगे, लेकिन यह सिर्फ अनुमान है। ट्रेनों की संख्या और अधिक भी हो सकती है।

उन्होंने कहा कि रेलवे ने राज्य सरकारों की जरूरतों और महामारी की स्थिति के आधार पर दैनिक रूप से यात्री सेवाओं का जायजा लेने का फैसला किया है। उन्होंने कहा, जहां तक यात्री ट्रेनों का सवाल है, अब स्थिति यह है कि हम ट्रेनों की आवश्यकताओं, ट्रैफिक पैटर्न और कोरोना स्थिति का दैनिक आधार पर विश्लेषण करेंगे। जहां भी जरूरत होगी हम ट्रेनें चलाएंगे।

यादव ने कहा, हमने क्लोन ट्रेनों की प्रणाली शुरू की है, जहां हर सुबह हम एक सॉफ्टवेयर के माध्यम से ट्रेनों के डेटा का विश्लेषण करते हैं। हमारा प्रयास यह सुनिश्चित करना है कि जहां कहीं भी लंबी वेटिंग लिस्ट हो, वहां एक क्लोन ट्रेन चलाई जाए। उन्होंने कहा, हमने यह भी फैसला किया है। जहां भी क्लोन ट्रेन फुल हो जाती है, हम यह सुनिश्चित करने के लिए उसी मार्ग पर एक और क्लोन ट्रेन चलाएंगे कि कोई भी यात्री वेटिंग में न हो।

यादव ने कहा कि राज्य सरकारों के साथ भी समन्वय बना हुआ है। रेल बोर्ड एक साथ बहुत सारी ट्रेनों की घोषणा करने के बजाए जरूरत के अनुसार हर रोज दो चार ट्रेनें शुरू कर रहा है। क्योंकि कोरोना काल में बहुत सारे चीजों का ध्यान रखना पड़ता है। उन्होंने कहा कि इस दौरान भारतीय रेल यात्रियों की सुरक्षित यात्रा के लिए भी अभियान चला रही है और स्टेशनों और ट्रेनों में जरूरी जानकारी दी जा रही है। रेलवे स्टेशन के आसपास के गांव के लोगों को भी इस बारे में बताया जा रहा है।

चित्रकूट एक्सप्रेस फिर से दौड़ेगी

मध्यप्रदेश के जबलपुर से लखनऊ और कानपुर को जोड़ने वाली एकमात्र ट्रेन चित्रकूट एक्सप्रेस साढ़े छह माह बाद फिर दौड़ेगी। रेलवे ने गुरवार को ट्रेन का कार्यक्रम जारी कर दिया है। यह ट्रेन 5 अक्टूबर को लखनऊ से जबलपुर के लिए रवाना होगी। वहीं छह अक्टूबर से यह ट्रेन नियमित तौर पर जबलपुर से लखनऊ जाएगी। ट्रेन के समय और रूट में कोई बदलाव नहीं किया गया है। कोविड 19 को देखते हुए ट्रेन को स्पेशल बनाकर चलाया जा रहा है। इस वजह से ट्रेन का नंबर बदला गया है।

Leave a comment