बड़ी खबर

लापरवाह प्रभारी : प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति लेवई उपार्जन केन्द्र कोटमी मे लपरवाही के चलते धान के भरे  बोरे हुए अंकुरित

लापरवाह प्रभारी : प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति लेवई उपार्जन केन्द्र कोटमी मे लपरवाही के चलते धान के भरे बोरे हुए अंकुरित

भाटापारा:- प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति लेवई उपार्जन केन्द्र कोटमी मे लपरवाही के चलते धान के भरे बोरे अंकुरित हो गए है , वही यहाँ बीना डनेज के सीधे जमीन मे बनाये गए धान के स्टेक, वही ,कोटमी उपार्जन केन्द्र प्रभारी का कहना है कि मुझे कुछ हि दिन हुए है उपार्जन केन्द्र कोटमी का चार्ज लिए हुए। आप को बता दे कि भाटापारा उपार्जन केन्द्र कोटमी मे दस फरवरी तक मोटा धान 1200 ़40 महामाया धान 12158 पतला धान 930 ़40 सरना धान 11103 ़60 कुल 25392 ़40 क्विंटल धान की खरीदी कि गई है, तथा मिलरो को 1200 मोटा धान ,720 पतला धान, 4260 सरना धान कुल 6180 क्विंटल धान जारी किया गया है तथा संग्रहण केन्द्रो मे 1821 ़60 महामाया, और 2140 सरना कुल 3961 ़60 क्विंटल जारी किया गया है, वर्तमान मे उपार्जन केन्द्र कोटमी मे 0 ़40 मोटा धान, 10336 ़40 महामाया धान 210 ़40 पतला धान 4703 ़60 सरना धान कुल मिलकर 15250 ़80 क्विंटल धान उपलब्ध है, उपलब्ध धान की जिम्मेदारी प्रभारी अशोक साहु पर है, जिन्होने बेमौसम बारीस से धान को बचाने का शायद कोई इंतजाम नही किया है, उपार्जन केन्द्र की हालत को देखकर यही कहा जा सकता है, क्योकि सभी न्युज पेपर, व टीवी न्युज चैनलो मे मौसम की जानकारी दी जाती है, यही नही जिले से भी बे-मौसम बारीस से बचने के लिए कैप कव्हार सभी उपार्जन व संग्रहण केन्द्रो को जरूरत के अनुसार खरीदने की अनुमति (आदेश )दी जाती है, लेकिन उपार्जन केन्द्र कोटमी में आदेशो का पालन नजर नही आया जिसके चलते बे-मौसम बारीस से धान के कुछ स्टॉक के बोरे अंकुरित हो गए है आपको बता दे कि जब धान के स्टेक बनाया जाता है तो पहले जमीन मे डनेज के लिए भुसे से भरे बोरे रखा जाता है जिससे बे-मौसम बारिस होने पर गिली जमीन से धान के बोर को बचाया जा सके लेकिन इस केन्द्र के प्रभारी के द्वारा कुछ धान के स्टेक को बीना भुसे के बोरे के बीना ही सिधे जमिन मे रखकर स्टेक बनाया गया है, इसी तरह के लपरवाही करने वाले नाकाम फड प्रभारी और प्रबंन्धक पर 7 फरवरी को जिला के कसडोल तहसिल के धान खरीदी केन्द्र कोसमसरा के फड प्रभारी पर कार्यवाही करते हुए नौकरी से बाहर करने के लिए कसडोल अनुविभागीय राजस्व अधिकारी के द्वारा किया गया था। यही नही 15 जनवरी को भाटापारा विकासखण्ड के धान खरीदी केन्द्र लेवई मे अव्यवस्था पर फड प्रभारी गोलु गुप्ता के विरूद्व सख्त कार्रवाई करने उप पंजीयक ने सहकारी समिति के अध्यक्ष एवं संचालक को कार्रवाई कर सुचित करने को कहा था,लेवई केन्द्र मे भी धान के छः स्टेक बिना डनेज के सीधे जमिन पर बनाये गये थे। अब देखना यह है कि अब प्रशान इस पर क्या कार्रवाई करती है।

Leave a comment