बड़ी खबर

बिलासपुर : आजादी के नारे से गूंजा केंद्रीय विश्वविद्यालय ,एनएसयूआई ने किया जमकर हंगामा, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के खिलाफ खोला मोर्चा...पढ़े पूरी खबर

बिलासपुर : आजादी के नारे से गूंजा केंद्रीय विश्वविद्यालय ,एनएसयूआई ने किया जमकर हंगामा, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के खिलाफ खोला मोर्चा...पढ़े पूरी खबर

बिलासपुर छत्तीसगढ़

A REPORT BY :: अजीत मिश्रा

0 प्रशासनिक भवन के बाहर लगाए नारे।

0 कुलपति पर लगाया भ्रष्ट और अनैतिक होने का आरोप ।

0 कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने दर्ज कराई मौजूदगी।

0  विश्वविद्यालय में बढ़ी सुरक्षा व्यवस्था। 

0  कुलपति अंजिला के इस्तीफे की मांग।

0  विश्वविद्यालय बना आर.एस.एस. का गढ़-प्रदर्शनकारी।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर स्थित केंद्रीय विश्वविद्यालय RRS का गढ़ बन चुका है।  यहां हर तरह भ्रष्टाचार है और अव्यवस्था अपने चरम में है। इतना ही नही तमाम अव्यवस्था और गड़बड़ियों के लिए यहां की कुलपति अंजिला गुप्ता जिम्मेदार है।  ये सारे आरोपों कांग्रेसियों ने लगाए हैं। यही कारण है कि, मंगलवार को एनएसयूआई ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया वही इस मौके पर देश के कई विश्वविधालय की तर्ज में यहाँ पर भी आजादी जैसे नारे लगाए गए।। काफी हो हंगामे के बाद बिलासपुर सिटी मजिस्ट्रेट को मामला शांत कराने वहाँ आना पड़ा और इसी बीच विरोध प्रदर्शन कर कांग्रेसी राष्ट्रपति के नाम ज्ञपन सौंपा।।विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और यूथ कांग्रेस के पदाधिकारियों भी शामिल हुए। विश्व विद्यालय के  प्रशासनिक भवन के बाहर मुख्य दरवाजे पर चढ़कर प्रदर्शनकारियों ने जमकर हंगामा मचाया। विश्वविद्यालय शिक्षा का मंदिर है जहां इस तरह के विरोध प्रदर्शन आरोप-प्रत्यारोप से  साबित हो जाता है कि यहां स्थिति कितनी गंभीर है।  गौरतलब है कि एक दिन पहले ही सेंट्रल यूनिवर्सिटी के कुलपति अंजिला गुप्ता ने बिलासपुर कांग्रेस के जिला अध्यक्ष और एनएसयूआई के पदाधिकारियों के खिलाफ नामजद शिकायत दर्ज की है।  वही दूसरे ही दिन कांग्रेसियों के द्वारा इतना उग्र प्रदर्शन हुआ है।  साफ है कि, विश्वविद्यालय के लिये आने वाले दिन कितने कठिनाइयों से भरे होंगे। दूसरी तरफ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विजय केसरवानी ने साफ शब्दों में  कुलपति आंजनी गुप्ता पर गंभीर आरोप लगाए हैं साथ ही उनके मनमानी और दादागिरी के खिलाफ ऐसे ही प्रदर्शन लगातार  करने की बात कही है। 

Leave a comment