बड़ी खबर

भारत में पैर पसारने की कोशिश में ISIS, सिर कलम करने का दिया आदेश

भारत में पैर पसारने की कोशिश में ISIS, सिर कलम करने का दिया आदेश

भारत में पैर फैलाने की कोशिशों में जुटे आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने अपने मॉड्यूल्स और कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि हत्याओं के लिए धारदार हथियारों का इस्तेमाल किया जाए और खासकर विदेशियों को निशाना बनाया जाए। रिपोर्ट्स के मुताबिक आतंकी संगठन की ओर से अपने मॉड्यूल्स से कहा कि भारी हथियारों को साथ रखने, आईईडी और हमला करने के लिए भारी हथियार खरीदने के बजाए बड़ी धारदार चाकू या हथियार का इस्तेमाल करे। इससे लागत में कमी आएगी और संदेह होने का शक भी होगा।
टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक सिर कलम करने का पहला मामला जुलाई में उस समय सामने आया जब पश्चिम बंगाल सीआईडी ने अबु मूसा उर्फ मैसुद्दीन नाम के आतंकी के नेतृत्व वाले मॉड्यूल को पकड़ा गया। उसके पास से सीआईडी को धारदार हथियार मिले थे। अब, केरल-तमिलनाडु में पिछले हफ्ते गिरफ्तार किए गए मॉड्यूल्स से यह पता चला है कि उनकी प्लानिंग दो दक्षिणी राज्यों में विदेशी लोगों को टारगेट करना था। रिपोर्ट के मुताबिक सूत्रों का कहना है कि भारत में प्रस्तावित हमलों के पीछे आतंकी संगठन का मकसद ज्यादा से ज्यादा लोगों के बीच दहशत फैलाना है, जिनमें विदेशी नागरिक भी शामिल हैं।

एजेंसियों का मानना है कि आईएसआईएस से प्रभावित लोगों को इन हत्याओं की रिकॉर्डिंग के भी निर्देश दिए गए हैं ताकि इन्हें ऑनलाइन फोरम पर शेयर करके संगथन को भारत में प्रमोट किया जा सके। इस साल जुलाई में ढाका के कैफे में हुए हमले में भी ऐसा ही देखने को मिला था। आतंकियों द्वारा विदेशियों की गर्दन काटने के वीडियो बनाए गए थे, जिसे आईएस ने बाद में शेयर किया था।

गौरतलब है कि एनआईए द्वारा हाल ही में आईएसआईएस का संदिग्ध सदस्य को गिरफ्तार किया गया था। वह कथित रूप से केरल में कुछ न्यायाधीशों और विदेशी पर्यटकों को निशाना बनाने की योजना बना रहा था। उसने इराक में युद्ध का प्रशिक्षण लिया था। आरोपी की पहचान तमिलनाडु में तिरुनेलवेली के रहने वाले सुबहानी हाजा मोइदीन के रूप में की गई है। सूत्रों के अनुसार मोइदीन कथित तौर पर एकमात्र ऐसा भारतीय है जिसे इराक के मोसुल में युद्ध का कड़ा प्रशिक्षण दिया गया। एनआईए ने एक बयान में कहा कि आरोपी ने देश में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की साजिश रची थी और वह तमिलनाडु में पटाखा कारखानों से रासायनिक विस्फोटक जमा करने की योजना बना रहा था।

Leave a comment