बड़ी खबर

 राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके के अभिभाषण से बजट सत्र की शुरुआत

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके के अभिभाषण से बजट सत्र की शुरुआत

 रायपुर | 22 फरवरी, 2021 छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के शुभारम्भ के अवसर पर आज विधान सभा पहुंची राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके का आत्मीय स्वागत विधान सभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष   धरमलाल कौशिक, संसदीय कार्य मंत्री  रविंद्र चौबे, विधानसभा उपाध्यक्ष   मनोज मंडावी और विधान सभा के प्रमुख सचिव   सी. एस. गंगराडे ने किया।सदन में राज्यपाल अनसूइया उइके ने उद्बोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की कल्पना को साकार करने आप सभी काम कर रही है,
कोरोना से निपटने मेरी सरकार को आप सबने सहयोग दिया।
राज्यपाल ने कहा कि बीता साल अनेक चुनौतियों से भरा हुआ था, सभी मोर्चों पर मेरी सरकार खरी उतरी है, सरकार ने सूझबूझ से काम किया है, प्रवासी श्रमिकों की सुरक्षित घर वापसी हुई, वहीं 11 से अधिक पंचायतों में चावल उपलब्ध कराया गया, अनेक प्रयासों के सकारात्मक परिणाम मिले,
3 लाख 62 हज़ार से अधिक हितग्राहियों और अनेक लोगों के लिए घर-घर जाकर रेडी टू इट दिया गया,
सरकार की प्रतिबद्धता से बच्चों को कुपोषण से मुक्ति मिली है।

 उन्होंने कहा कि महतारी जतन, बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ समेत कई योजनाओं को सुचारू रूप से लागू किया गया,
किसानों से किया गया वादा निभाया गया,
इस वर्ष 21 लाख 52 हज़ार 980 किसान पंजीकृत हुए थे, रिकॉर्ड धान खरीदी हुई,
धान के ख़रीदी के हर पहलू पर नया कीर्तिमान स्थापित हुआ है।
राज्यपाल ने कहा कि उपलब्धियों से किसानों के जीवन में कृषि उत्पादन और खुशहाली का दौर शुरु हुआ है,
725 नई समितियां पंजीकृत की गईं हैं,
अब 2058 समितीयां हो गईं अब, सरकार की नवाचारी सोच को सम्मान मिला है।
राजीव गाँधी किसान न्याय योजना से काफी मदद मिली,
पहले वर्ष 4500 करोड़ की राशि किसानों को दी गई,
वन संसाधन बड़ा साधन है।
तेंदूपत्ता पारिश्रमिक बढ़ाई गई है, इससे लाखों परिवार को फायदा हुआ है।
छत्तीसगढ़ को 11 विशिष्ट पुरस्कारों से केंद्र सरकार हर राज्य को नवाजा है।
प्रदेश को स्वच्छतम का पुरस्कार मिला है,
गरीबों को बेहतर आवास देने लिये सरकार ने कई सार्थक काम किये हैं।

Leave a comment