बड़ी खबर

 दो महीने के बाद सरकार घरेलू उड़ानें फिर से शुरू करने का लिया  फैसला ग्रीन स्टेटस के साथ ही कर सकेंगे यात्रा, देखे नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने दिशा निर्देश

दो महीने के बाद सरकार घरेलू उड़ानें फिर से शुरू करने का लिया फैसला ग्रीन स्टेटस के साथ ही कर सकेंगे यात्रा, देखे नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने दिशा निर्देश

नई दिल्लीः पूरे देश में 25 मार्च से लॉकडाउन है और इसका चैथा चरण 31 मई तक जारी रहेगा। करीब दो महीने के बाद सरकार घरेलू उड़ानें फिर से शुरू करने का फैसला लिया है। इसकी जानकारी बुधवार को नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट करके दी। उन्होंने कहा कि 25 मई से चरणबद्ध तरीके से देश में विमान सेवाएं शुरू की जाएंगी। हवाईअड्डों और विमानन कंपनियों को तैयार रहने को कहा गया है।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (एएआई) ने गुरुवार को मानक संचालक प्रक्रियाएं (SOP) जारी कर दिया है। इसके अंतर्गत यात्रियों के लिए एयरपोर्ट टर्मिनल की इमारत में प्रवेश करने से पहले थर्मल जांच क्षेत्र से गुजरना अनिवार्य होगा। बिना मास्क के किसी को भी एयरपोर्ट पर घुसने नहीं दिया जाएगा।

एएआई ने घरेलू उड़ानें फिर से शुरू करने के लिए हवाई अड्डों को मानक संचालक प्रक्रियाएं (एसओपी) जारी की। एएआई ने कहा, 'सभी यात्रियों को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा, ग्रीन स्टेटस होने पर ही व्यक्ति को यात्रा करने की इजाजत दी जाएगी। हालांकि 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए यह अनिवार्य नहीं है।' आगे यह भी बताया कि हवाई अड्डा संचालकों को टर्मिनल इमारत में प्रवेश से पहले यात्रियों के सामान को संक्रमण मुक्त करने के लिए उचित प्रबंध करने होंगे।

Aai

ज्ञात हो कि नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा कि कम उड़ानें हो सकती हैं, बीच की सीटों को खाली रखना व्यवहारिक नहीं  होगा, क्योंकि इससे टिकटों की कीमत बढ़ जाएगी। बता दें कि कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के बीच देश में 25 मार्च से सभी व्यावसायिक यात्री उड़ानें निलंबित हैं। सरकार ने कहा है कि अभी सिर्फ 30 प्रतिशत उड़ानों के साथ ही संचालन शुरू किया जाएगा। बुकिंग आॅनलाइन ही की जाएगी। जो लोग बुकिंग करवाना चाहते हैं, उनको एयरलाइंस की वेबसाइट पर नजर रखनी होगी। क्योंकि बुकिंग कभी भी शुरू हो सकती है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने सफर करने के लिए दिशा निर्देश जारी किए हैंः-

• यात्री फिजिकल चेक-इन नहीं कर पाएंगे। जो पहले से वेब चेक-इन करके आएंगे, उन्हें ही एयरपोर्ट पर एंट्री मिलेगी।

• एक यात्री को सिर्फ एक बैग ले जाने की इजाजत दी जाएगी। वेब चेक-इन के वक्त ही ये बात साफ हो जाएगी।

• फ्लाइट के टेक आफ से कम से कम 2 घंटे पहले पहुंचना जरूरी होगा। एयरपोर्ट टर्मिनल में उन पैसेंजर को ही एंट्री मिलेगी, जिनकी फ्लाइट अगले 4 घंटे में होगी।

• सभी यात्रियों को मास्क और गलव्ज पहनना जरूरी होगा।

• 14 साल तक के बच्चों को छोड़ सभी को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना पड़ेगा। एंट्री गेट पर इसकी जांच की जाएगी। जिनके ऐप में रेड स्टेटस होगा, उन्हें एंट्री नहीं मिलेगी।

• एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग में एंट्री से पहले ही एक तय जगह पर स्क्रीनिंग जोन से गुजरना होगा। इसके लिए थर्मल स्क्रीनिंग स्टेशन तैयार किए जा रहे हैं।

• एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के मुताबिक राज्य सरकारों और प्रशासन से पब्लिक ट्रांसपोर्ट और प्राइवेट टैक्सी उपलब्ध करवाने के लिए कहा है। ताकि यात्रियों और एयरपोर्ट स्टाफ को कनेक्टिविटी मिल सके। आप अपनी गाड़ी से भी जा सकेंगे।

• एएआई ने यह साफ नहीं बताया है, सिर्फ इतना कहा है कि तय संख्या में ही लोगों को बैठने की इजाजत होगी। ये नियम एयरपोर्ट स्टाफ और यात्रियों के लिए लागू होगा।

• उड्डयन मंत्रालय ने सभी एयरलाइंस से कहा है कि फ्लाइट में खाना नहीं दिया जाए।

• संक्रमण से बचाव के उपायों के साथ फूड आउटलेट खुलेंगे। भीड़ नहीं हो, इसके लिए यात्रियों को पार्सल लेने के लिए कहा जाएगा। डिजिटल पेमेंट पर जोर रहेगा।

• प्रस्थान और आगमन क्षेत्र में ट्रॉली नहीं मिलेगी। जिन यात्रियों को वाकई जरूरत होगी, उन्हें मांगने पर ट्रॉली दी जाएगी। सभी ट्रॉली सैनिटाइज की जाएंगी।

• टर्मिनल बिल्डिंग में एंट्री से पहले बैगेज को सैनिटाइज किया जाएगा। इसकी जिम्मेदारी एयरपोर्ट ऑपरेटर की होगी।

• एंट्री गेट, स्क्रीनिंग जोन में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एक-एक मीटर की दूरी पर मार्किंग की जाएगी।

• जूते-चप्पलों को डिसइन्फेक्ट करने के लिए एंट्रेस पर ब्लीच में भीगे मैट या कार्पेट रखे जाएंगे।

• जरूरतमंदों को पहले से सैनिटाइज की हुई व्हील-चेयर मिलेगी। एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग या लाउंज में न्यूज पेपर या मैग्जीन नहीं मिलेगी।

संबंधित तस्वीर

Leave a comment