बड़ी खबर

केंद्र सरकार ने दिया 1 लाख 70 हजार करोड़ का राहत पैकेज, अन्न-रसोई गैस और खातों में मुफ्त धन का ऐलान

केंद्र सरकार ने दिया 1 लाख 70 हजार करोड़ का राहत पैकेज, अन्न-रसोई गैस और खातों में मुफ्त धन का ऐलान

नई दिल्ली। देशव्यापी लॉकडाउन के बाद केंद्र सरकार ने एक लाख 70 हजार करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया है। इस राहत पैकेज में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अनुसार 80 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त में 5 किलो गेहूं या चांवल दिया जाएगा। अगले तीन महीने तक यह लाभ केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा। इसके अलावा पीडीएस राशन का अलग से दिया जाएगा। वहीं 1 किलो दाल भी जिस प्रकार का दाल चाहे वह मिलेगा। अप्रैल के पहले हफ्ते में 8 करोड़ 70 लाख किसानों को 2हजार रूपए की किस्त ट्रांसफर कर दिया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के माध्यम से 182 से 202 रूपए कर दिया गया है। सीनियर सिटीजन, दिव्यांग और वृद्धाओं को एक हजार रुपए अतिरिक्त तीन महीनों तक दिया जाएगा। डीबीटी के माध्यम से उनके खातों में पैसा दिया जाएगा। साढ़े 20 करोड़ महिलाओं को जन-धन खाता में 500 रूपए प्रतिमाह तीन महीने तक दिया जाएगा। 8.3 करोड़ बीपीएल परिवार को उज्जवला स्कीम के तहत 3 महीने तक मुफ्त गैस सिलेंडर दिया जाएगा। स्व सहायता समूह जिससे देश 7 करोड़ परिवारों के लिए एनआरएलएम के माध्यम से 10 लाख रुपए की जगह 20 लाख रुपए दिया जाएगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत भारत सरकार इपीएफ 100 से कम 15 हजार से कम वेतन वाले संस्थान को मदद करने के लिए आगे आई है। नौकरी करने वाले का 12 प्रतिशत हिस्सा और नौकरी देने वाले का 12 प्रतिशत हिस्सा डालेगी। कुल मिलाकर 24 प्रतिशत देगी। 80 लाख मजदूरों को और 4 लाख संस्थानों को सरकार देगी। इपीएफ के अंतर्गत रजिस्टर्ड 4 करोड़ 80 लाख मजदूरों को इसका लाभ मिलेगा। राष्ट्र निर्माण, भवन ​निर्माण में लगे मजदूरों के लिए वर्कर्स वेलफेयर फंड साढ़े 3 करोड़ मजदूरों के लिए 31 हजार करोड़ का फंड उपलब्ध है। राज्य सरकार को निर्देश दिए गए है गरीब मजदूरों को इसका लाभ दिलाएं। डिस्ट्रिक्ट मिनिरल फंड का उपयोग जाचं, उपचार और दवाईयों के लिए उपयोग करें। अन्नदाता, मजदूर, गरीब, दिव्यांग सभी को ध्यान में रखकर ये ऐलान किया गया है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने दी।

Leave a comment