विशेष

जनप्रतिनिधियों की कमजोरी, मस्तूरी से पेंड्री कोहरौदा मार्ग जर्जर .....

जनप्रतिनिधियों की कमजोरी, मस्तूरी से पेंड्री कोहरौदा मार्ग जर्जर .....

 सन्नी यादव @ bbn24news  (विशेष )

मस्तूरी से पेंड्री कोहरौदा नेशनल हाईवे मार्ग बद से बदतर हो चुकी है विगत कई वर्षों से इस रोड की मरम्मत कार्य नहीं हो पाई है। इस मामले में कर्मचारी अधिकारियों की उदासीनता समझे या फिर जनप्रतिनिधियों की कमजोरी क्योंकि विगत 10 वर्षों से ना तो इस रोड के लिए कोई भी जवाबदार अधिकारी एक्शन ले रहे हैं और ना ही कोई सांसद विधायक जैसे जनप्रतिनिधि  लोग इस समस्या को उच्च स्तर तक पहुंचा रहे हैं। रोड की समस्या को लेकर जब कभी भी मस्तूरी के व्यापारिक संगठन या फिर विद्यार्थी संगठन या फिर कोई राजनीतिक संगठन के लोगों ने मुद्दे को लेकर जवाबदार अधिकारी के पास अपनी बात रखी है। तो सिर्फ रोड के मरम्मत के नाम पर लीपापोती कर  नजर अंदाज किया गया है। आज उच्च आला अधिकारियों की नजर अंदाज करने के कारण रोड की स्थिति इतनी जर्जर हो चुकी है कि आवागमन करने वाले यात्रियों से लेके रोज दूरदराज के अंचल से पढ़ाई करने आ रहे विद्यार्थी गढ़ बहुत ही ज्यादा परेशानियों का उन लोगों को सामना करना पड़ रहा है।

 मस्तूरी एक मुख्यालय जगह है जिले से मात्र 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है यहां आसपास के क्षेत्रों के लोगों की छोटे से लेकर बड़े कार्य होते हैं । जितने भी शासकीय कार्यालय हैं मस्तूरी में उपस्थित होने के कारण लोग अपनी अपनी समस्या को लेकर  रोजाना आवागमन करते हैं। लेकिन रोड के बदतर स्थिति को लेकर कोई दुर्घटना का शिकार होते तो किसी के कपड़े खराब हो जाते हैं। लोगों को रोड के नाम से इतनी भारी-भरकम समस्या है इसको क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और आला अधिकारी बखूबी अच्छी तरह से समझते हैं बावजूद इसके सब मूकदर्शक बने हुए निद्रा में लीन है।


 कार्यालय काम से आने जाने वाले लोगों को कीचड़ और गड्ढों से इतनी ज्यादा ही परेशानी हो रही है कि कभी उन लोगों के कपड़े खराब हो जा रहे हैं तो रोड खराब होने की वजह से वाहन खराब हो जाते हैं या तो लेटलतीफी हो जाता है अगर बरसात नहीं होते तो धूल और कंकड़ से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैl आने जाने वाले लोगों के साथ साथ सड़क के आस-पास व्यापारी लोग काफी हद तक परेशान है धूल धक्कड़ से सामान खराब हो जाते हैं और कीचड़ होने से धंधा पानी में मंदी हो रही है लोक सामने में कीचड़ देखकर आगे निकल जाते हैंl सारी समस्याओं को देखते हुए लोगों में भारी रोष है और अपने अपने संगठन के रूप में शासन के खिलाफ उग्र आंदोलन करने की तैयारी में लगे हुए हैं।

रोड की इस गंदी दशा को देखते हुए भी शासन प्रशासन चुप्पी साधे बैठी है स्कूली सीजन चल रहा है छात्र-छात्राओं को स्कूल आने-जाने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है रोड के जर्जर स्थिति को देखते हुए ना तो कोई प्रकार की मरम्मत कार्य करवाई जा रही है और ना ही किसी प्रकार की ठोस कदम उठाए जा रहे हैं जिसे लेकर हम लोग काफी परेशान हैं।
 राहुल यादव
 पंचायत जनप्रतिनिधि मस्तूरी।
मस्तूरी रोड की जर्जर स्थिति को देखते हुए भी शासन प्रशासन के लोग इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं हम लोगों को स्कूल कॉलेज जाने में रोड के नाम से और रोड के गंदगी के नाम से इतनी सारी  परेशानियां हो रही है कि कई कई दिन ड्रेस खराब होने यह सड़क के गड्ढों के नाम से गिर जाने के कारण घर वापस भी होना पड़ा है, कई छोटे-छोटे दुर्घटनाओं से बचे हैं।
 अभिषेक मौर्य
 छात्र मस्तूरी कॉलेज।
दुकान के सामने में रोड के बड़े-बड़े गड्ढों  के होने से वाहनों के आवागमन पर थोड़ी सी बरसात होने पर सड़क दलदल में तब्दील हो जाती है बड़े वाहनों के चलने से सामानों पर आए दिन कीचड़ पढ़ते ही रहता है दुकान के सामने में गंदगी होने के कारण ग्राहकों का आवागमन भी कम हो जाता है और यह सब सारी समस्याएं सिर्फ रोड के मरम्मत नहीं होने से हो रही है जिससे हम लोग काफी परेशान हैं।
 पारस गुप्ता
 व्यापारी मस्तूरी।
हमें रोजाना ऑफिशियल वर्क के नाम से मस्तूरी आना जाना पड़ता है लेकिन रोड की जर्जर स्थिति को देख कर कभी भी दुर्घटना होने की आशंका बनी हुई रहती है। रोड के जर्जर होने की वजह से कई सारी दुर्घटनाएं भी हो चुकी है पर अभी तक शासन-प्रशासन के और से रोड की मरम्मत के नाम पर  कोई भी प्रकार का एक्शन नहीं लिया जा रहा है जिससे हमें बहुत सारी समस्याएं हो रही है।
 जितेंद्र यादव।
 शासकीय कर्मचारी
मस्तूरी में नेशनल हाईवे रोड की स्थिति वाकई में बहुत ही  जर्जर स्थित है सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे हो जाने के नाम से आम लोगों को बहुत सारी समस्याएं हो रही है जिसे हमने सड़क विभाग के अधिकारियों को अवगत करा दिया है बहुत जल्दी मरम्मत कार्य करवाया जाएगा।
 वीरेंद्र लकड़ा
 एसडीएम मस्तूरी।

Leave a comment