विशेष

खबरीलाल रिपोर्ट ::- धर्मसंसद् 1008 की वेबसाइट का हुआ लोकार्पण ।।

खबरीलाल रिपोर्ट ::- धर्मसंसद् 1008 की वेबसाइट का हुआ लोकार्पण ।।

आज जब परिस्थितियाँ धर्म के विपरीत हो गयी हैं ऐसे मे यह आवश्यक प्रतीत हो रहा है कि हम अपने स्वयं के प्रचार तन्त्र को विकसित करें । प्राचीन समय में एक दूसरे तक अपनी बात पहुँचाने के जो साधन थे उस ओर भी हम ध्यान दे और साथ ही आज के युग की तकनीक का भी लाभ धर्म प्रचार के लिए करें । उक्त उद्गार धर्मसंसद् 1008 के परम संयोजक स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानन्दः सरस्वती महाराज ने आज श्रीविद्यामठ सभागार में आयोजित वेबसाइट लोकार्पण समारोह के अवसर पर कही । उन्होने कहा कि काशी के जिस पक्का महाल क्षेत्र में लोग दबाव या अन्य किसी कारण से मकान आदि बेचकर जा रहे है उसी क्षेत्र मे आज भी महालक्ष्मी जी एक वीरांगना की भांति डटी हुई है यह हम सबके लिए गौरव की बात है । सत्य धर्म के प्रति समर्पित ऐसे ही लोगों की ईश्वर रक्षा करते हैं और उनका ही अभ्युदय भी होता है । श्री अभिषेक श्रीवास्तव जी द्वारा कम समय में निर्मित www.dharmasansad1008.co.in नाम की इस वेबसाईट का लोकार्पण पक्का महाल क्षेत्र की निवासी श्रीमती महालक्ष्मी जी ने तथा हरियाणा से पधारे 5 वर्ष के बटुक पं दुष्यन्त पाराशर ने किया । अपने उद्बोधन में महालक्ष्मी जी ने कहा कि आज जो काशी की स्थिति है वह दयनीय है । धर्म यह नहीं सिखाता कि हम बनी बनाई चीजों को बिगाड़े । आज काशी में विकास के नाम पर मकान दुकान ही नहीं, मन्दिर तक तोड़े जा रहे हैं । धर्म नगरी में हो रहे इस अन्याय के विरुद्ध स्वामिश्रीः ने जो संघर्ष छेडा है उसमे तन मन से हम साथ है । पं श्री प्रकाश पाण्डेय जी ने कहा कि धर्मसंसद् के एक एक समाचार को यहाँ की मीडिया को दिखाना चाहिए क्योंकि यह आयोजन काशी ही नही, अपितु पूरे विश्व के कल्याण के लिए आयोजित हो रही है । कार्यक्रम का शुभारम्भ हैदराबाद से पधारे पं सत्यनारायण जी के वैदिक मंगलाचरण से हुआ । संचालन श्री रवीन्द्र चतुर्वेदी जी ने तथा धन्यवाद ज्ञापन साध्वी पूर्णाम्बा जी ने किया । इस अवसर पर प्रमुख रूप से अनिल शुक्ला, संजय पाण्डेय, सुनील शुक्ला सुनील उपाध्याय, हरिनाथ दुबे, यतीन्द्र नाथ चतुर्वेदी, कन्हैया जायसवाल, अरुण योगी, विनीत तिवारी, सत्यप्रकाश श्रीवास्तव, शरद शुक्ला, किसन जायसवाल, राजेन्द्र कुमार चौबे जन आदि उपस्थित रहे ।

Leave a comment