विशेष

खबरीलाल रिपोर्ट ::- काशी स्थित श्रीविद्यामठ जहाँ साधिकाएॅ करती हैं नवरात्रि अनुष्ठान ।।

खबरीलाल रिपोर्ट ::- काशी स्थित श्रीविद्यामठ जहाँ साधिकाएॅ करती हैं नवरात्रि अनुष्ठान ।।

यह अद्वैत सिद्धान्त के प्रतिपादकाचार्य भगवत्पाद आद्य शंकराचार्य जी की परम्परा का वह महान् स्थल है जहाँ प्रति प्रकट नवरात्रि में श्रीविद्या साधिकाएं अनुष्ठान कर भगवती राजराजेश्वरी देवी की कृपा प्राप्त करती हैं । प्रतिदिन पूर्वाह्न 9 से 11 बजे तक आद्य शंकराचार्य जी द्वारा रचित सौन्दर्य लहरी स्तोत्र के प्रथम श्लोक का 108 बार जप एवं सम्पूर्ण सौन्दर्य लहरी का सामूहिक रूप से सस्वर पारायण पूज्य स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानन्दः सरस्वती महाराज के दिशानिर्देश में हो रहा है । यह उन बुद्धिजीवियों के लिए उत्तर है जो सनातन धर्मोद्धारक हमारे आदि आचार्य पर स्त्रियों से भेद-भाव करने और उन्हें धार्मिक क्रियाकलापों में पीछे रखे जाने का झूठा आक्षेप कर उन्हें मातृशक्ति के विरोधी के रूप में प्रचारित करते हैं । सनातन धर्म में शास्त्र-मर्यादानुसार सभी के लिए सम्मानजनक स्थान सुरक्षित है । तभी तो हमें सनातनी होने पर गर्व है ।

Leave a comment