विशेष

खबरीलाल रिपोर्ट (वृंदावन) ::- ममता चंद्राकर ने शंकराचार्य से लिया आशीर्वाद।

खबरीलाल रिपोर्ट (वृंदावन) ::- ममता चंद्राकर ने शंकराचार्य से लिया आशीर्वाद।

छत्तीसगढ़ की मशहूर कलाकार एवं पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त डॉ ममता प्रेम चंद्राकर ने ज्योतिष एवं द्वारका शारदा पीठ के पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती जी महाराज के 68 वें चातुर्मास्य व्रत अनुष्ठान में "चिन्हारी" लोक गीत एवं नृत्य प्रस्तुत कर उपस्थित भक्तों को भावविभोर कर दिया। छत्तीसगढ़ी फिल्मों के मशहूर निर्माता व निर्देशक प्रेम चंद्राकर द्वारा कृत "चिन्हारी" में छत्तीसगढ़ के विभिन्न जातियों के लोक गीतों को नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया गया जिसमें गणेश वंदना, नाचा, मल्हारी व आदि प्रस्तुतियां ममता चंद्राकर एवं उनके साथियों द्वारा मंचन किया गया। नाचा छत्तीसगढ़ का बहुत प्रसिद्द नृत्य शैली है जिसमे पुरुष महिला बनकर नृत्य करते हैं तथा अन्य जातियों द्वारा नाव रात्रि, दीपावली में जिस तरह का लोक गीत व नृत्य करते हैं उसका प्रस्तुतिकरण उनके द्वारा किया गया। ममता चंद्राकर का कहना है कि हम देश के अलग अलग जगह पर जाकर छत्तीसगढ़ के संस्कृति से लोगों को "चिन्हारी" के मध्यम से अवगत करवाते हैं जिससे दूसरे प्रदेश के लोग हमारे छत्तीसगढ़ की संस्कृति , भाषा, शैली आदि को जान सके। इस कार्यक्रम के आयोजन में शंकराचार्य आश्रम रायपुर के नरसिंह चंद्राकर का विशेष योग दान रहा और इस विशेष कार्यक्रम में देश के अलग अलग प्रान्तों से आये सन्यासी, साधु, सन्त, महात्मा एवं वृंदावन वासी विशेष रूप से उपस्थित थे।

संबंधित तस्वीर

Leave a comment