विशेष

खबरीलाल रिपोर्ट (वृंदावन) ::-  सब नामों में सर्वश्रेष्ठ 

खबरीलाल रिपोर्ट (वृंदावन) ::-  सब नामों में सर्वश्रेष्ठ "राम" नाम है : स्वरूपानन्द सरस्वती ।।

ज्योतिष एवं द्वारका शारदा पीठ के पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती जी महाराज ने भक्तों से कहा कि सब नामों में सर्वश्रेष्ठ "राम" नाम है। जन्म जन्मांतर से जो पाप हो रहे हैं उन पापों की गठरी को जीव डोह रहा है। इन पापों का नाश अग्नि करता है, उसे भस्म कर देता है। अज्ञान का कारण परमात्मा के निकट रहते हुए भी हम उन्हें पहचान नहीं पाते हैं। अज्ञान का नाश राम नाम का "अ" कार करता है। जो शीतलता प्रदान करता है, अशांति दूर करता है वह राम नाम का "म" कार है। आगे महाराजश्री ने कहा कि राम नाम और ओंकार में कोई फर्क नहीं है।  गोस्वामी तुलसीदास महाराज ने कहा था राम से भी बड़ा उनका नाम है। समुद्र में सेतु बनाने के लिए जब वानर सेना ने पत्थरों के ऊपर राम नाम लिखर फेंका तो पत्थर डूबे नहीं अपितु तैरने लगे। यह है उनके नाम का प्रभाव। भगवान श्रीराम सेतु का निरीक्षण करने पहुंचे तो देखा समुद्र में पत्थर तैर रहे हैं। उन्होंने पूछा ये पत्थर कैसे तैर रहे हैं ? तब वानर सेना ने कहा प्रभु आपके नाम के प्रभाव के कारण ही पत्थर तैर रहे हैं। तब भगवान राम ने भी एक पत्थर समुद्र में फेंका तो वह डूब गया। तभी हनुमान जी ने कहा की प्रभु आप खुद ही पत्थर को फेंकोगे तो वह तो डूबेगा । इसलिए कहते हैं कि सब नामों में सर्वश्रेष्ठ "राम" नाम ही है।

Leave a comment