विशेष

Success Story -  मेरी ख्वाहिश कि मैं अपनी मातृभूमि छत्तीसगढ़ महतारी की ही सेवा करूं  - सुष्मिता जायसवाल

Success Story - मेरी ख्वाहिश कि मैं अपनी मातृभूमि छत्तीसगढ़ महतारी की ही सेवा करूं - सुष्मिता जायसवाल

रायपुर:- देश के सबसे बड़े चिकित्सकीय संस्थान समूह AIIMS में निकले नर्सिंग ऑफिसर पद की चयन सूची आ गई है जिसमें रायपुर AIIMS में छत्तीसगढ़ की बेटी सुष्मिता जायसवाल का चयन हुआ। आपको बता दें कि बिलासपुर जिले मध्यम वर्गीय परिवार बलिराम जायसवाल की बेटी सुष्मिता जायसवाल की नर्सिंग की पढ़ाई बिलासपुर के एक निजी नर्सिंग कॉलेज से हुई जिसके बाद रायपुर एम्स में एमएससी नर्सिंग में चयन हुआ पढ़ाई के दौरान ही एम्स में नर्सिंग ऑफिसर का पद निकला जिसमें पढ़ाई के दौरान हैं ऐम्स द्वारा आयोजित नर्सिंग ऑफिसर की परीक्षा उत्तीर्ण कर रायपुर एम्स में नर्सिंग ऑफिसर के पद पर चयन हुआ। नर्सिंग ऑफिसर पर चयन होने पर पूरे परिजनों में हर्ष का माहौल है। वही सुष्मिता ने सफलता का पूरा श्रेय अपने माता पिता भाई गुरुजनों के साथ अपने शुभचिंतको दी।

अगर किसी सफलता को पाने की जिद मन मे ठान लो तो मंजिल आपके लिए दूर नहीं

वही सुष्मिता जायसवाल ने बताया कि एम्स चयन होना उनका सपना था हर मेडिकल फील्ड के लोगों की ख्वाहिश होती है कि उनका सिलेक्शन एम्स जैसे बड़े संस्थानों में हो । मध्यम वर्गीय परिवार में होने की वजह से आर्थिक समस्याओं को देखते हुए मैंने सिर्फ और सिर्फ अपने लक्ष्य पर ही फोकस किया और बिना किसी प्रेशर के पढ़ाई शुरू की सबसे पहले तो एमएससी नर्सिंग में मेरा सिलेक्शन रायपुर के एम्स में हुआ फिर वही पर मैंने पढ़ाई करते हुए नर्सिंग ऑफिसर की भी तैयारी की प्रवीण सूची में नाम आने से एक अलग ही खुशी का अनुभव हुआ लेकिन एक डर था कि कहीं मेरी पोस्टिंग किसी अन्य प्रदेश में ना हो जाए लेकिन खुशी और दुगना हो गया जब मुझे रायपुर एम्स मिला। क्योंकि मेरी ख्वाहिश थी कि मैं अपनी मातृभूमि छत्तीसगढ़ महतारी की ही सेवा करूं। साथी साथ उन्होंने यह भी बताया कि जो भी नर्सिंग के छात्र एम्स या फिर किसी भी शासकीय सेवाओं के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो वह अपने लक्ष्य के प्रति केंद्रित होकर प्रयास करेंगे तो उन्हें सफलता जरूर मिलेगी उन्होंने यह कहा कि अगर जिसे सफलता को पाने की जिद मन में ठान लो तो मंजिल आपके लिए दूर नहीं होगी बल्कि मंजिल खुद चलकर आपके पास आएगी। साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि सफलता 1 दिन में नहीं मिलती सफलता पाने के लिए आपको बार-बार मेहनत करना पड़ेगा हर आने वाले दिन को यह समझना चाहिए कि आने वाला दिन उनकी जिंदगी का वह दिन है जिसका इंतजार है बरसों से है। ये एक लाइन जो हमेशा उनके नोटिस बोर्ड में लिखा रहता है...

If you want shine like a sun, so first you burn like sun Susmita Jaiswal

Leave a comment