विशेष

प्रभु श्रीराम ने छत्तीसगढ़ में वनगमन के दौरान लगभग 75 स्थलों का किया भ्रमण इनमें से 51 स्थल ऐसे हैं, जहां प्रभु राम ने भ्रमण के दौरान रुककर कुछ समय व्यतीत किया ....पढ़े ये विशेष रिपोर्ट

प्रभु श्रीराम ने छत्तीसगढ़ में वनगमन के दौरान लगभग 75 स्थलों का किया भ्रमण इनमें से 51 स्थल ऐसे हैं, जहां प्रभु राम ने भ्रमण के दौरान रुककर कुछ समय व्यतीत किया ....पढ़े ये विशेष रिपोर्ट

कोरिया/छत्तीसगढ़ सरवर अली...

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के भरतपुर तहसील के जनकपुर में सीतामढ़ी हर चौका स्थित है यह मवाई नदी के तट पर स्थित है जो कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के बॉर्डर पर स्थित है यह एक पुरातात्विक स्थल है यहां एक प्राकृतिक गुफा स्थित है

रामायण काल से मान्यता है कि भगवान श्री राम जब वनवास के लिए चित्र कूट से निकले थे तब सतना ,सीधी होते हुए यहां रुके थे यहीं से छत्तीसगढ़ प्रांत मैं प्रवेश हुए थे यहां शिलाखंड मौजूद है जिसे लोग भगवान श्री राम के पद चिन्ह मानकर पूजा करते हैं हरचौका मवाई नदी के तट पर स्थित गुफा को काटकर 17 कक्ष बनाए गए हैं जिनमें शिवलिंग स्थापित है इस स्थान को हर चौका (सीता रसोई) के नाम से जाना जाता है जानकारों की माने माने तो रामायण काल में जब भगवान श्री राम माता सीता जी लक्ष्मण जी को वनवास के लिए जाना पड़ा था हर चौका माता सीता एक रात जो कि मवाई नदी के तट पर स्थित है यहां रुके थे इसी से इनका नाम सीतामढ़ी राम गमन मार्ग पड़ा!

हर चोका से निकलकर अरपा नदी के तट पर सीतामढ़ी घागरा पहुंचे माना जाता है यह नदी तट से करीब 20 फीट ऊपर 4 कक्षाओं वाली गुफा मौजूद हैं जिसके बीच शिवलिंग स्थापित है ।

राम वनगमन स्थल पर फिलहाल किसी भी तरह की सुविधा नहीं है।राम वन पथ गमन में छत्तीसगढ़ सरकार ने 8 जिलो का तेजी से विकास होगा इसके लिए सरकार ने घोषणा कर दिया है। इनमें कोरिया जिले के सीतामढ़ी-हरचौका भी शामिल है । वहां अब सरकार पर्यटक सुविधा केंद्र, वैदिक विलेज, पगोड़ा, वेटिंग शेड, पेयजल, शौचालय, ठहरने की सुविधा, रेस्टोरेंट, कॉटेज सुविधा के साथ विद्युतीकरण कार्य होगा।

Leave a comment